अफगानिस्तान

अफगानिस्तान में तालिबान ने मचाया आतंक, 50 लोगों को एयरलिफ्ट कर कंधार से नई दिल्ली लाया गया

अफगानिस्तान में तालिबान का आतंक फिर बढ़ने लगा है। ताजा खबर यह है कि भारत ने कंधार से दूतावास के अपने कर्मचारियों और सुरक्षाकर्मियों को वापस बुला लिया है।

अफगानिस्तान में तालिबान ने मचाया आतंक, 50 लोगों को एयरलिफ्ट कर कंधार से नई दिल्ली लाया गया

काबुल. अफगानिस्तान में तालिबान का आतंक फिर बढ़ने लगा है। ताजा खबर यह है कि भारत ने कंधार से दूतावास के अपने कर्मचारियों और सुरक्षाकर्मियों को वापस बुला लिया है। कुल मिलाकर 50 लोगों एयरलिफ्ट कर कंधार से नई दिल्ली लाया गया है। बता दें, अमेरिका ने ऐलान कर दिया है कि उसकी सेना अफगानिस्तान छोड़ देगी। इसके बाद से अफगानिस्तान के अलग-अलग हिस्सों में तालिबान ने फिर सिर उठाना शुरू कर दिया। हिंसा की अलग-अलग खबरों के बीच भारत सरकार ने वाणिज्य दूतावास से अपने नागरिकों को वापस बुलाने का फैसला किया है। अब इस वाणिज्य दूतावास में स्थानीय कर्मचारी ही काम करेंगे।

यह भी पढ़े, तालिबान ने दिया बाइडन को जवाब, कहा चाहे तो दो हफ़्तों में पूरे अफ़ग़ानिस्तान का कंट्रोल….

एक अधिकारी ने नाम ना छापने की शर्त पर बताया कि कंधार कॉन्सुलेट के राजनयिकों, सहायक कर्मचारियों और गार्डों को नई दिल्ली लाए जाने के बाद वहां भारतीय वाणिज्य दूतावास को अस्थायी रूप से बंद कर दिया गया है. कंधार और हेलमंद के दक्षिणी प्रांतों में पाकिस्तान स्थित लश्कर-ए-तैयबा के आतंकी बड़ी संख्या में मौजूद हैं, जिसके चलते राजनयिकों और सुरक्षाकर्मियों को बाहर निकाला गया. अफगान सुरक्षा एजेंसियों के हालिया अनुमान के अनुसार दक्षिणी अफगानिस्तान में तालिबान के साथ मिलकर 7,000 से अधिक लश्कर-ए-तैयबा के लड़ाके लड़ रहे हैं.

कंधार तक पहुंच चुका है तालिबान:

कंधार में पिछले सप्ताह से तालिबान और अफगान सुरक्षा बलों के बीच लड़ाई में तेजी देखी गई है। कुछ रिपोर्टों में कहा गया है कि आतंकवादियों ने शुक्रवार को कंधार शहर के आसपास के प्रमुख जिलों पर कब्जा कर लिया। आतंकवादी इन इलाकों में अंदर तक आ गए हैं और दहशतगर्दी फैला रहे हैं। हालांकि चार दिन पहले ही भारत ने कहा था कि काबुल, कंधार और मजार-ए-शरीफ शहरों में वाणिज्य दूतावासों में अपने मिशन को बंद करने की योजना नहीं है। अब अचानक यह कदम उठाना पड़ गया। अधिकारियों ने कहा था कि भारत पूरे अफगानिस्तान में बिगड़ती सुरक्षा स्थिति पर करीब से नजर रख रहा है और यह सुनिश्चित करने के लिए सभी कदम उठाए जाएंगे कि भारतीय अधिकारियों और नागरिकों को नुकसान न पहुंचे।

भारत ने जारी किया था परामर्श:

गौरतलब है कि अफगानिस्तान के कई हिस्सों में हिंसा में बढ़ोतरी के मद्देनजर भारतीय दूतावास ने पिछले सप्ताह मंगलवार को एक परामर्श जारी करके देश में रह रहे और वहां काम कर रहे सभी भारतीयों को गैर जरूरी यात्राओं से बचने को कहा था. परामर्श में दूतावास ने कहा था कि अफगानिस्तान में कई प्रांतों में सुरक्षा की स्थिति ‘खतरनाक’ बनी हुई है और आतंकवादी गुटों ने हिंसक गतिविधियां बढ़ा दी हैं तथा आम नागरिकों को निशाना बनाकर हमले की घटनाएं हो रही हैं. दूतावास की ओर से कहा गया कि भारतीय नागरिकों को अगवा किये जाने का खतरा है.

अफगानिस्तान में शांति एवं स्थिरता में भारत महत्वपूर्ण पक्षकार है. भारत ने इस देश में विकास कार्यो में करीब 3 अरब डालर का निवेश किया है. भारत ने हमेशा अफगानिस्तान नीत, नियंत्रित एवं उसके स्वामित्व वाली शांति प्रक्रिया के समर्थन की बात कही है।

Tina Chouhan

Author, Editor, Web content writer, Article writer and Ghost writer

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker