टेक्नोलॉजी

Death Prediction: अब मौत की तारीख जानना हुआ आसान, यह एक मशीन बताएगी कितना समय बचा है आपके पास

Death Prediction: रिसरचर्स ने एक ऐसी मशीन बनाने का दावा किया है जो इंसान की मौत की तारीख बता सकता है। इसका यह फायदा होगा को मरने वाला व्यक्ति अपने जीवन के आखरी समय को मनमुताबिक जी पायेगा।

Death Prediction:

मृत्यु सत्य है। जिसका जन्म हुआ है उसकी मृत्यु तय है। कब किस का आखरी दिन होगा यदि यह जान लिया जाता तो इंसान अपने अधूरे कार्यों को पूरा कर लेता और चैन की नींद सो जाता। लेकिन अब यह चीज आने वाले समय में मुमकिन हो जाएगी। रिसरचर्स ने एक ऐसी मशीन बनाने का दावा किया है जो इंसान की मौत की तारीख बता सकता है। इसका यह फायदा होगा को मरने वाला व्यक्ति अपने जीवन के आखरी समय को मनमुताबिक जी पायेगा।

यह मौत की डेट बताने वाला कैलकुलेटर मार्किट में लॉन्च किया गया है. इस कैलकुलेटर का नाम है ‘Risk Evaluation for Support: Predictions for Elder-Life in the Community Tool (RESPECT)’।
इस कैलकुलेटर में दुनिया के करीब आधे बुजुर्गों का डेटा फीड किया गया है। इससे उनकी जिंदगी की एवरेज उम्र निकाल उनकी मरने की तारीख़ को कैलकुलेट किया जाएगा.
यह मशीन अगले चार हफ्ते में होने वाली मौतों का भी अनुमान लगा लेगा।

यह भी पढ़े, मेटल डिटेक्टरिस्ट के हाथ लगी 19 वीं शताब्दी की एक बोतल, 121 साल से जमीन में थी दफन, खजाना समझकर खोल दी

ऐसे फीड हुआ डेटा:

2013 से इस डिवाइज की तैयारी हो रही थी. उस समय से लेकर 2017 तक के बीच करीब पांच लाख लोगों ने अपनी मेडिकल स्थिति, हालत की डिटेल इसमें प्रोवाइड की. इनकी हालत ऐसी है कि अगले पांच साल में इनकी मौत हो सकती थी. इन्हीं के आधार पर रिसर्चर्स ने आगे की तैयारी का मशीनरी पर काम किया. लोगों ने अपने हेल्थ रिस्क की डिटेल दी, जिसमें उन्हें आए किसी स्ट्रोक या कमजोरी का भी जिक्र किया गया. इनके आधार पर तय किया गया कि वो शख्स अब आगे कितने साल जियेगा।

ये है मौत के लक्षण:

रिसर्चर्स ने पाया कि बीमार होने के बाद शख्स घटी फिजिकल क्षमता से उसकी मौत का संबंध है. अगर अचानक बॉडी में सूजन आ रही है, वजन कम हो रहा है या भूख मिट रही है तो ये मौत के निशान है. इनकी आगे महीने में मौत की संभावना है. इस डिवाइज को लेकर कनाडा के ओटावा यूनिवर्सिटी और Bruy re Research Institute के इन्वेस्टिगेटर डॉ एमी हसु ने बताया कि अगर लोग जान जाएंगे कि उनकी मौत कब होगी तो वो अपने परिवार के साथ आखिरी समय अच्छे से बिता पाएंगे. वो छुट्टियों पर जा पाएंगे और अपनी बची जिंदगी का आनंद उठा पाएंगे. ये पूरी रिसर्च कनाडियाई मेडिकल एसोसिएशन के जर्नल में छपी.

 

 

Tina Chouhan

Author, Editor, Web content writer, Article writer and Ghost writer

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker