दिल्लीदेश विदेश

अमेरिका के स्वतंत्रता दिवस पर पीएम ने दिया बधाई संदेश, वहीं चीन को किया नजरअंदाज, जाने क्या है वजह

अमेरिका आज अपने स्वतंत्रता दिवस की 245वीं वर्षगांठ मना रहा है। इस पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अमेरिकी राष्ट्रपति और अमेरिकी जनता को बधाई दी है। प्रधानमंत्री मोदी ने ट्वीट.....

अमेरिका के स्वतंत्रता दिवस पर पीएम ने दिया बधाई संदेश, वहीं चीन को किया नजरअंदाज, जाने क्या है वजह

अमेरिका आज अपने स्वतंत्रता दिवस की 245वीं वर्षगांठ मना रहा है। इस पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अमेरिकी राष्ट्रपति और अमेरिकी जनता को बधाई दी है। प्रधानमंत्री मोदी ने ट्वीट कर कहा कि ‘जीवंत लोकतंत्र के रूप में भारत और अमेरिका स्वतंत्रता और स्वाधीनता के मूल्यों को साझा करते हैं। हमारी रणनीतिक साझेदारी का वास्तव में वैश्विक महत्व है।’

कूटनीतिक मोर्चे पर पीएम मोदी के इस बधाई संदेश की चर्चा हो रही है. दरअसल पिछले हफ्ते चीन की सरकार ने सत्तारूढ़ कम्युनिस्ट पार्टी (CPC) के शताब्दी समारोह का जश्न मनाया था, लेकिन इस मौके पर भारत की तरफ से चीन को कोई बधाई संदेश नहीं भेजा गया. जबकि अमेरिका को बधाई देने में पीएम मोदी ने कोई देरी नहीं की. आखिर भारत ने ऐसा क्यों किया।

यह भी पढ़े, चीन पर ट्रम्प का वार, चीन को करना होगा 10 ट्रिलियन अमेरिकी डॉलर का भुगतान

आपको बता दें कि चीन की कम्युनिस्ट पार्टी (CCP) ने एक जुलाई को अपने 100 साल पूरे किए. साल 1921 में पार्टी की स्थापना हुई थी. 72 साल की लंबी लड़ाई के बाद पार्टी को सत्ता में आने का मौका मिला. इस मौके पर भारत सरकार की तरफ से चीन को कोई बधाई संदेश नहीं भेजा गया. कांग्रेस पार्टी की तरफ से भी चीन को बधाई नहीं दी गई। वहीं दूसरी ओर
वर्ष 1776 में ब्रिटेन से आजादी पाने के बाद अमेरिका में हर साल 4 जुलाई को स्वतंत्रता दिवस मनाया जाता है। इस दिन पूरे देश में अवकाश रहता है। इस दिन 18वीं सदी में ब्रिटेश के शासन से 13 अमेरिकी उपनिवेशों को स्वतंत्रता मिली थी। अमेरिकी लोग आम भाषा में इस दिन को ‘फॉर्थ ऑफ जुलाई’ कहकर पुकारते हैं। अमेरिकी लोग इस दिन को बड़े धूमधाम के साथ मनाते हैं। आमतौर पर इस दिन वहां आतिशबाजी, परेड, कार्निवल और मेले आयोजित किए जाते हैं।
लेकिन कोविड को देखते हुए किसी तरह का जश्न नहीं मनाया गया।
हालांकि इस साल बीजेपी ने वियतनाम की कम्युनिस्ट पार्टी को सालगिरह के मौके पर बधाई दी थी. आखिर भारत ने चीन को बधाई संदेश क्यों नहीं भेजी, इस सवाल के जवाब पर विदेश मंत्रायल के प्रवक्ता ने चुप्पी साध ली।

 

Tina Chouhan

Author, Editor, Web content writer, Article writer and Ghost writer

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker