पाकिस्तान

राजनयिकों को पाकिस्तान से वापस बुला रहा अफगान, राजदूत की बेटी के अपहरण बाद लिया फैसला

राजनयिकों को पाकिस्तान से तब तक के लिए वापस बुला लिया, जब तक कि अपहरण के दोषियों की गिरफ्तारी और उन पर मुकदमा चलाने सहित सभी सुरक्षा खतरों को समाधान नहीं किया जाता.’

राजनयिकों को पाकिस्तान से वापस बुला रहा अफगान, राजदूत की बेटी के अपहरण बाद लिया फैसला

इस्लामाबाद. हाल ही में पाकिस्तान में अफगान राजदूत नजीबुल्लाह अलीखील की बेटी को इस्लामाबाद से अगवा कर टॉर्चर किए जाने की खबर आई थी। इसके बाद से पाकिस्तान और अफगानिस्तान के बीच राजनयिक संकट रविवार को तब और गहरा हो गया जब काबुल ने घोषणा की कि वह पाकिस्तान में अपने दूत की बेटी के अपहरण और यातना के बाद इस्लामाबाद से अपने राजदूत और अन्य वरिष्ठ कर्मचारियों को वापस बुला रहा है।

बता दें कि पाकिस्तान में अफगानिस्तान के राजदूत नजीबुल्लाह अलीखिल की 26 साल की बेटी सिलसिला अलीखिल का शुक्रवार को इस्लामाबाद में अज्ञात लोगों ने अपहरण कर लिया. उन्हें प्रताड़ित किया गया और साथ ही उसके साथ मारपीट की गई.

सिलसिला अलीखिल को उस वक्त अगवा किया गया जब वह किराये के वाहन से कहीं जा रही थीं। रिहा करने से पहले उन्हें कई घंटे बंधक बनाए रखा गया। बाद में अलीखिल राजधानी के एफ-9 पार्क इलाके में पाई गई और उनके शरीर पर चोट के निशान थे।

यह भी पढ़े, अफगान राजनयिक की बेटी के अपहरण के बाद भारतीय राजनयिक और उनके परिवार को किया सतर्क

अफगानिस्तान के उपराष्ट्रपति ने किया ट्वीट:

रविवार को किए गए एक ट्वीट में, अफगानिस्तान के उपराष्ट्रपति अमरुल्ला सालेह ने कहा- “राष्ट्रपति अशरफ गनी ने अफगानिस्तान के विदेश मंत्रालय को निर्देश दिया कि वह सभी वरिष्ठ राजनयिकों के साथ इस्लामाबाद से हमारे राजदूत को वापस बुलाए।” उन्होंने जारी रखा, “अफगान राजदूत की बेटी के अपहरण और उसके बाद की यातना ने हमारे देश के मानस को घायल कर दिया है। हमारे राष्ट्रीय मानस को प्रताड़ित किया गया है।”


दोषियों की गिरफ्तारी तक नहीं होगी वापसी:

अफगानिस्तान के विदेश मंत्रालय ने एक बयान में कहा, ‘पाकिस्तान में अफगान राजदूत की बेटी के अपहरण के बाद, अफगानिस्तान इस्लामी गणराज्य के नेतृत्व ने अफगानिस्तान के राजदूत और वरिष्ठ राजनयिकों को पाकिस्तान से तब तक के लिए वापस बुला लिया, जब तक कि अपहरण के दोषियों की गिरफ्तारी और उन पर मुकदमा चलाने सहित सभी सुरक्षा खतरों को समाधान नहीं किया जाता.’

पाक बोला- अपहरण तो हुआ ही नहीं

इस बीच, पाकिस्तान के गृह मंत्री शेख राशिद ने एक निजी टीवी चैनल ‘जियो न्यूज को दिए एक साक्षात्कार में कहा कि राजदूत की बेटी का अपहरण नहीं किया गया था। उन्होंने कहा, “वह अपनी मर्जी से रावलपिंडी गई थीं..हमारे पास सीसीटीवी फुटेज हैं। हालांकि, इससे पहले दिन में राशिद ने एक संवाददाता सम्मेलन में कहा था कि पुलिस ने अपहरण और प्रताड़ना मामले में प्राथमिकी दर्ज कर ली है। उन्होंने संवाददाताओं से कहा कि अपहरण से पहले उन्हें अलग-अलग जगहों पर ले जाने वाले टैक्सी चालकों से पूछताछ की गई है और असली अपहरणकर्ताओं को जल्द ही गिरफ्तार कर लिया जाएगा। राशिद ने कहा, ”पुलिस अफगान राजदूत की बेटी के मामले की रिपोर्ट की जांच कर रही है। हमने उनके अनुरोध पर मामला दर्ज किया है।

 

Tina Chouhan

Author, Editor, Web content writer, Article writer and Ghost writer

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker