मुंबई

हिन्दू लड़की के मुस्लिम लड़के से शादी करने के खिलाफ हुआ समाज, मिल रहे धमकी भरे कॉल्स

हिंदू लड़कियों से शादी करके मुस्लिम लड़के उन्हें सऊदी अरब ले जाकर बेच देते हैं. अभी भी समय है, आप अपनी लड़की को बचा सकते हो." उस तरह के धमकी भरे मेसेज...

हिन्दू लड़की के मुस्लिम लड़के से शादी करने के खिलाफ हुआ समाज, मिल रहे धमकी भरे कॉल्स

मुंबई. एक हिन्दू लड़की ने मुस्लिम लड़के से विवाह करने पर मिल रहे धमकियों भरे मेसेज के चलते पुलिस में शिकायत दर्ज कराई है। इन धमकी भरे मेसेज व फोन कॉल्स के कारण पूरा परिवार मानसिक तनाव से जूझ रहा है।

सुनैना (पहचान छुपाने के लिए दिया गया नाम) 31 वर्ष की है। सुनैना ने BBC मराठी को फोन पर बताया कि , “मुझे और मेरे परिवार के लोगों को धमकी भरे फ़ोन आ रहे हैं, अज्ञात लोगों के पत्र आ रहे हैं और मेरे पिता का ब्रेनवॉश किया जा रहा है.”

सुनैना के अनुसार, यह शादी वह अपनी मर्जी से कर रही है, लेकिन कुछ लोग उनकी शादी का विरोध कर रहे हैं. सुनैना ने मुंबई पुलिस में शिकायत दर्ज कराई है.

सुनैना की इस शिकायत पर मुंबई पुलिस की ओर से अब तक कोई प्रतिक्रिया नहीं मिली है, अगर प्रतिक्रिया मिलती है तो उसे इस ख़बर में जोड़ दिया जाएगा।

यह भी पढ़े, ‘लव जिहाद’ का नाम देकर तोड़ी दो धर्मो की एकता, रिश्ते बनने से पहले ही टूटे

इसके बावजूद यह मामला सोशल मीडिया पर वायरल हो गया है और इस पर बहस छिड़ गई है।

आम आदमी पार्टी की प्रीति शर्मा मेनन ने ट्वीट किया है, “यह डराने वाला है. एक महिला के अंतर-धार्मिक विवाह के आवेदन के चलते हिंदू समर्थक गुंडे धमकी दे रहे हैं.”

प्रीति इस मुद्दे पर सवाल उठाती हैं, “सबसे अहम बात तो यह है कि उन्हें इस लड़की के बारे में जानकारी कहां से मिली.”

शादी के आवेदन के बाद से ही धमकी:

सुनैना ने मुंबई के खार इलाक़े में 14 जून को मैरिज रजिस्ट्रेशन ऑफ़िस में स्पेशल मैरिज एक्ट के तहत विवाह करने के लिए अपना आवेदन दिया. सुनैना के बताया कि इसके अगले दिन से ही उनके घर पर धमकी भरे फ़ोन कॉल्स और चिट्ठियां आने लगीं.

सुनैना ने बीबीसी मराठी को कहा, “आवेदन के अगले ही दिन 15 जून को मेरे पिता को एक गुमनाम खत मिला, जिसमें लिखा था कि तुम्हारी बेटी इस तारीख को एक मुस्लिम लड़के से विवाह करने जा रही है, पता करो.”

सुनैना के मुताबिक पत्र भेजने वाले को उनके बारे में पूरी जानकारी थी.

सुनैना ने बताया, “पत्र मराठी में लिखा था. उसमें लिखा था कि मुस्लिम लड़के हिंदू लड़कियों से शादी करके उन्हें सऊदी अरब ले जाकर बेच देते हैं. अभी भी समय है, आप अपनी लड़की को बचा सकते हो.”

सुनैना के मुताबिक पत्र में उनके पिता को चेतावनी भी दी गई थी. सुनैना ने इसके बाद मैरिज रजिस्ट्रेशन ऑफ़िस में फोन किया तो उन्हें कहा गया, “स्पेशल मैरिज एक्ट के तहत पंजीकरण कराने पर ऐसी घटनाएं होती हैं, उन पर ध्यान मत दीजिए.”

जबरदस्ती घर मे घुसकर समझाइश की की गई कोशिश:

सुनैना ने बताया, “हम लोग तो पंजीकरण कराने के बाद इसे भूल गए थे. मेरे पिता भी होने वाले पति से कुछ दिन पहले मिले और उन्हें वो पसंद भी आए.”

लेकिन मंगलवार यानी 13 जुलाई को मैंने घर का दरवाजा खोला तो देखा कि तीन लोग मुझे समझाने आए थे कि मुस्लिम लड़के से शादी मत करो. उन लोगों ने मुझसे कहा कि वे मेरे पिता से बात करना चाहते हैं, लेकिन मैंने उन्हें दरवाजे से लौटने को कहा, वे जाने को तैयार नहीं थे.”

सुनैना ने बताया कि उनके रिश्तेदारों को भी फोन किये,उसने बताया कि “गुजरात और कोलकाता में रहने वाले रिश्तेदारों के फ़ोन आ रहे हैं. मेरे शादी का विरोध कर रहे लोगों ने हमारे कई जान-पहचान वालों को भी इसकी जानकारी दी

पुलिस से शिकायत:

मुंबई के खार पुलिस स्टेशन में दी गई अपनी शिकायत पर सुनैना ने बताया, “मैंने पुलिस को पूरी जानकारी दी है, जो लोग मेरे घर आए थे, उनकी शिकायत की है, मेरे माता-पिता को मेरी सुरक्षा की भी चिंता हो रही है. मुझे नहीं मालूम आगे क्या होगा? मेरी शादी कैसे होगी?”

मुंबई में काम करने वाली संस्था ‘राइट टू लव’ की दीप्ति नितनवारे के मुताबिक, स्पेशल मैरिज एक्ट के तहत दिए गए आवेदनों को सार्वजनिक नहीं करना चाहिए.

उत्तर प्रदेश सरकार ने हाल ही में ‘उत्तर प्रदेश विधि विरूद्ध धर्म संपरिवर्तन प्रतिषेध क़ानून’ पारित किया है.

सरकार की ओर से कहा गया है कि शादी के लिए ज़बरन धर्म परिवर्तन कराए जाने के बढ़ते मामलों को देखकर क़ानून बनाया गया है.

मध्य प्रदेश सरकार ने भी अंतर-धार्मिक शादियों के मुद्दे पर धार्मिक स्वतंत्रता क़ानून-2021 लागू किया है.

Tina Chouhan

Author, Editor, Web content writer, Article writer and Ghost writer

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker