दिल्ली के सरकारी स्कूलों में पढ़ने वाले 1,074 छात्रों ने पास की नीट परीक्षा

Sabal SIngh Bhati
4 Min Read

दिल्ली के सरकारी स्कूलों में पढ़ने वाले 1,074 छात्रों ने पास की नीट परीक्षा नई दिल्ली, 15 जून ()। दिल्ली के सरकारी स्कूलों में पढ़ने वाले एक हजार से अधिक छात्रों ने राष्ट्रव्यापी मेडिकल एग्जाम, नीट क्वालीफाई किया है। इतना ही नहीं दिल्ली के सरकारी स्कूल में पढ़ने वाले एक छात्र ने तो नीट में 100 परसेंटाइल स्कोर किया है। दिल्ली सरकार के मुताबिक, इस वर्ष सरकारी स्कूलों से कुल 1,074 बच्चों ने नीट की परीक्षा क्वालीफाई की है। वहीं, बीते वर्ष 2022 में 648 छात्र परीक्षा क्वालीफाई कर सके थे।

देशभर में एमबीबीएस समेत चुनिंदा मेडिकल पाठ्यक्रमों में दाखिले के लिए नीट परीक्षा आयोजित की गई थी। नीट परीक्षा, चिकित्सा पाठ्यक्रमों के लिए एकल प्रवेश परीक्षा है। इस परीक्षा में भी लड़कियों का रिजल्ट लड़कों से बेहतर रहा है और लड़कियों ने लड़कों को पीछे छोड़ दिया है। आरपीवीवी पश्चिम विहार स्कूल के छात्र पीयूष झा ने 100 परसेंटाइल हासिल कर ईडब्लूएस कैटेगरी की ऑल इंडिया रैंकिंग में तीसरे स्थान पर कब्जा किया है।

दिल्ली सरकार का कहना है कि सरकारी स्कूलों ने एक बार फिर ऐतिहासिक उपलब्धि हासिल की है। दिल्ली सरकार के स्कूलों में पढने वाले छात्रों की इस ऐतिहासिक उपलब्धि पर सीएम अरविंद केजरीवाल ने खुशी व्यक्त की है। सीएम अरविंद केजरीवाल ने इस उपलब्धि के लिए सभी छात्रों, अभिभावकों और शिक्षकों को बधाई देते हुए कहा कि दिल्ली सरकार के स्कूलों के 1,000 से अधिक छात्रों ने नीट की परीक्षा क्वालीफाई की है। कुछ साल पहले इसकी कल्पना भी नहीं की जा सकती थी।

इस साल न केवल सरकारी स्कूलों से नीट क्वालीफाई करने वालों की संख्या बढ़ी है। बल्कि, लड़कियों ने फिर से लड़कों को पछाड़ा है। इस साल सरकारी स्कूलों से 1,074 बच्चों ने नीट की परीक्षा क्वालीफाई की, जिसमें से 695 लड़कियां हैं, जबकि 379 लड़के हैं।

दिल्ली सरकार का कहना है कि इस साल मॉडल ऑफ एजुकेशन के अंतर्गत नीट क्वालीफाई करने वाले छात्रों की संख्या में न केवल शानदार वृद्धि देखी गई है, बल्कि छात्रों के व्यक्तिगत प्रदर्शन में भी बेहतरीन सुधार देखा गया है।

सरकार का कहना है कि इसका एक बेहतरीन उदाहरण आरपीवीवी पश्चिम विहार के पीयूष झा हैं। पीयूष झा ने परीक्षा में उल्लेखनीय 100 फीसद परसेंटाइल हासिल किया और ईडब्ल्यूएस में ऑल इंडिया रैंक 3 पर काबिज हुए हैं। पीयूष की उपलब्धि सभी के लिए समान अवसर प्रदान करने में शिक्षा मॉडल की सफलता का प्रमाण है।

दिल्ली सरकार के स्कूलों से एनईईटी क्वालिफायर में साल-दर-साल वृद्धि केजरीवाल सरकार द्वारा शुरू किए गए शैक्षिक सुधारों की प्रभावशीलता को दिखाती है। नीट क्वालीफाई करने वाले छात्रों की संख्या में पिछले कुछ वर्षों में लगातार वृद्धि देखी गई है। साल 2020 में 569 छात्रों ने तो 2021 में 496, 2022 में 648 और इस साल 2023 में 1,074 छात्रों ने नीट परीक्षा क्वालीफाई किया है।

जीसीबी/एबीएम

देश विदेश की तमाम बड़ी खबरों के लिए निहारिका टाइम्स को फॉलो करें। हमें फेसबुक पर लाइक करें और ट्विटर पर फॉलो करें। ताजा खबरों के लिए हमेशा निहारिका टाइम्स पर जाएं।

Share This Article