अजब गजबदेश विदेश

जंगल में एडवेंचर मनाने गए नए शादी शुदा कपल का हुआ भालू के साथ सामना, 10 दिन पेड़ पर लटका रहा कपल

जंगल के बीच पेड़ पर लटके इस कपल को भालू लगातार उनके नीचे उतरने का ही इंतजार कर रहा था. ऐसे में एक शख्स सोता था तो दूसरा उसकी निगरानी करता था...

जंगल में एडवेंचर मनाने गए नए शादी शुदा कपल का हुआ भालू के साथ सामना, 10 दिन पेड़ पर लटका रहा कपल

जंगल में घूमते समय शिकारी जानवरों से सामना होना कोई नयी बात नहीं. कई बार हालात ऐसे होते हैं कि लोगों की जान पर बन आती है. ऐसा ही कुछ शादी के बाद घूमने गए एक नए-नवेले कपल के साथ जंगल में जो हुआ वो जानकर आपकी भी रूह कांप जाएगी. ये कपल गया तो था जंगल में पिकनिक मनाने, लेकिन यहां उसे जो कुछ भी झेलना पड़ा, वो किसी बुरे सपने से कम नहीं था.

यह भी पढ़े, बाघ-बघिन का निवाला बनने से बचने के लिए पेड़ पर 8 घण्टे बैठा रहा युवक, दो दोस्तों का हुआ शिकार

एंटोन और नीना बोगडानोव के लिए 10 दिन मौत से आंखमिचौली खेलने वाले थे. उन्हें सहारा मिला पेड़ों का वरना उनका पीछा कर रहे जंगली भालू ने उनका शिकार ही कर लिया होता।

रूस में घूमने के लिए जंगल गए एक कपल को जंगली भालू से अपनी जान बचाने के लिए 10 दिनों तक भूखे-प्यासे एक पेड़ पर रहना पड़ा. पर जंगली भालू ने भी उनका पीछा नहीं छोड़ा और उन्हें शिकार बनाने के लिए पेड़ के नीचे ही डटा रहा. इस घटना के बाद दोनों पति-पत्नी बुरी तरह डर गए. साइबेरिया के कामचटका इलाके में एंटोन और नीना बोगडानोव नाम के कपल ने शादी के बाद एडवेंचर के लिए जंगल में एक रात बिताने का प्लान बनाया था. जंगल में जाते हुए उनकी गाड़ी एक गहरे गड्ढे में फंस गई. वहां जंगलों में कोई मोबाइल नेटवर्क नहीं होने के कारण वो मदद के लिए किसी को कॉल नहीं कर पा रहे थे. जंगली जानवरों के डर से उन्होंने अपने विंडस्क्रीन पर हेल्प के लिए संदेश लिखा. लेकिन उन्होंने बताया कि उन्हें खोजने के लिए कोई नहीं आया.

जंगल की रात की डरावनी कहानी:

जहां ये कपल फंसा था, वहां न तो मोबाइल कवरेज था और न ही कोई और दूसरा वाहन. उन्होंने वहां से Banniye Springs के टूरिस्ट बेस जाने का फैसला किया. वे जैसे वहां से कुछ दूर चले उन्हें पीछे से भालू आता हुआ दिखा. पहले तो उन्होंने भालू को डराने की कोशिश की और वो डरा भी लेकिन उसने बाद में उन्हें दौड़ाना शुरू कर दिया. किसी तरह 200 यार्ड तक ढलान पार करके पति-पत्नी एक पेड़ पर चढ़ गए. नीना बताती हैं कि भालू ने एक बार तो उनके पति को करीब-करीब मार ही डाला था, लेकिन उन्होंने पानी की बोतल फेंककर उसका ध्यान भटकाया और उनके पति पेड़ पर चढ़ गए. उन्होंने करीब 2 दिन उसी पेड़ पर गुजारे और भालू उन्हें लगातार वहां से देखता रहा।

भागने की कोशिश की तो फिर पहुंच गया भालू:

उन्होंने दो दिन बाद किसी तरह उस पेड़ से उतरकर नदी के दूसरे किनारे पर जाने का फैसला किया. वे जैसे ही नदी पार कर किनारे पर पहुंचे भालू फिर उन्हें दौड़ाने लगा. एक बार फिर उन्हें पेड़ का ही सहारा लेना पड़ा. कपल का कहना है कि हालात ये थे कि भालू लगातार उनके नीचे उतरने का ही इंतजार कर रहा था. ऐसे में एक शख्स सोता भी था तो दूसरा उसकी निगरानी करता था. उन्होंने एक पेड़ से दूसरे पेड़ पर चढ़ते हुए किसी तरह 10 बिताए. उनके पास खाने को भी कुछ नहीं था और जंगल में ठंड भी बहुत थी.

पेड़ पर बिताए 10 दिन:

कपल का कहना है कि हालात ये थे कि भालू लगातार उनके नीचे उतरने का ही इंतजार कर रहा था. ऐसे में एक शख्स सोता था तो दूसरा उसकी निगरानी करता था. उन्होंने एक पेड़ से दूसरे पेड़ पर चढ़ते हुए किसी तरह 10 दिन बिताए. उनके पास खाने को भी कुछ नहीं था और जंगल में ठंड भी बहुत थी. 10 दिन तक इंतज़ार करने के बाद आखिरकार भालू ने हार मान ही ली और वो चला गया. जिसके बाद किसी तरह ये कपल अपनी गाड़ी तक पहुंचा, जहां उन्हें और गाड़ियां दिखाई दीं और रेस्क्यू टीम भी. जिसे देखकर उनकी जान में जान आई।

 

Tina Chouhan

Author, Editor, Web content writer, Article writer and Ghost writer

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker