बिहार

चिराग पासवान के खिलाफ बगावत, लोजपा में बड़ी फुट, चाचा ने किया तख्ता पलट

चिराग पासवान की पार्टी ने उनका साथ छोड़ा, पशुपति पारस के किसी करीबी ने बताया कि इसे पार्टी में टूट कहना गलत होगा, क्योंकि सिर्फ नेता बदला है न कि पार्टी।

चिराग पासवान के खिलाफ बगावत, लोजपा में बड़ी फुट, चाचा ने किया तख्ता पलट

पटना. लोक जनशक्ति पार्टी के संसदीय दल के नेता की कुर्सी से, बिहार के जमुई के सांसद चिराग पासवान को हटा दिया गया। इनकी जगह पर उनके चाचा और सांसद पशुपति कुमार पारस बैठेंगे।
हुआ यह है कि लोक जनशक्ति पार्टी में बगावत हुई जिसके बाद सभी पांचों सांसद ने चिराग पासवान का साथ छोड़ दिया। इसके बाद सभी ने उनके चाचा पशुपति कुमार पारस को अपना नेता मान लिया है। पार्टी के 5 सांसदों द्वारा मीटिंग के दौरान यह फैसला लिया गया। सांसदों ने मीटिंग के बाद कहा कि हमारी तरफ से पशुपति कुमार पारस को ही पार्टी का राष्ट्रीय अध्यक्ष बनाया जाएगा।

यह भी पढ़ें, बीजेपी ने सचिन पायलट को दिया प्रस्ताव कहा “देश को प्राथमिकता देने वालो के लिए खुला है दरवाजा”

इस बारे में पशुपति पारस के किसी करीबी ने बताया कि इसे पार्टी में टूट कहना गलत होगा, क्योंकि सिर्फ नेता बदला है न कि पार्टी। उन्होंने यह भी कहा कि पार्टी अभी रामविलास पासवान के सिद्धांतों पर ही चलेगी।
रिपोर्ट के अनुसार, चिराग पासवान को संसदीय दल और पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष की कुर्सी से हटाने के बाद सभी सांसद सोमवार को अपनी अपनी राय रखेंगे।
इससे पहले मिली रिपोर्ट के अनुसार पशुपति कुमार पारस ने लोकसभा अध्यक्ष ओम बिड़ला से भी इस मसले को लेकर मुलाकात की है।

पशुपति कुमार पारस के खेमे के नेताओं ने कहा कि, एलजेपी रहेगी सिर्फ मुखिया बदला गया है।
दरअसल, पार्टी के सांसदों की चिराग से नाराजगी की वजह पार्टी में लिया जा रहा है उनका एकतरफा फैसला है।

बताया जा रहा है कि बिहार विधानसभा चुनाव के वक्त ही चिराग पासवान के रुख से पार्टी के तमाम बड़े नेता और सांसद नाराज थे। ऐसे में विधानसभा चुनाव में मिली हार के बाद रही सही कसर भी पूरी हो गई। चुनाव के नतीजों के बाद से ही किसी भी नेता को चिराग के नेतृत्व पर न तो भरोसा था और न ही पार्टी में कोई भविष्य दिख रहा था, ऐसे में सभी सांसद उनसे नाराज चल रहे थे।

सांसदों की चिराग से नाराजगी इस बात को लेकर भी थी कि चिराग लगातार जेडीयू और नीतीश कुमार के खिलाफ एनडीए में रहकर भी अभियान चला रहे थे। इसी के साथ ही चुनाव में भी जेडीयू उम्मीदवारों के खिलाफ अपने लोगों को टिकट देकर चुनाव लड़वाया था।

 

 

Tina Chouhan

Author, Editor, Web content writer, Article writer and Ghost writer

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker