कारोबार

बाजार खुलते ही इक्विटी बाजारों में हुई वृद्धि, पावर शेयरों में दर्ज की गई गिरावट

मुंबई, 24 दिसम्बर ()। ओमिक्रॉन के बढ़ते मामलों ने शुक्रवार के कारोबार सत्र के बाद भारत के प्रमुख इक्विटी सूचकांकों, एसएंडपी बीएसई सेंसेक्स और एनएसई निफ्टी50 को कमजोर कर दिया। शुरुआत में दोनों सूचकांक तेजी के साथ खुले थे लेकिन बाद में बाजार में गिरावट दर्ज की गई।

दुनिया भर में जैसे ही अमेरिकी शेयर बाजार में गिरावट आई तो उसका असर एशियन स्टाक बाजारों पर भी देखा गया।

रियल्टी, पावर, ऑयल एंड गैस, कैपिटल गुड्स, बैंक और ऑटो इंडेक्स में सबसे ज्यादा गिरावट आई है जबकि आईटी और एफएमसीजी इंडेक्स में सबसे ज्यादा तेजी आई है।

एचडीएफसी सिक्योरिटीज के प्रमुख शोधकर्ता दीपक जसानी ने कहा, शुरुआत में नुकसान और फिर सप्ताह के दौरान वृद्धि देखने के बाद निफ्टी में अभी भी पिछले सप्ताह की तुलना में वृद्धि नहीं देखी गई।

कैपिटल वाया ग्लोबल रिसर्च के शोध प्रमुख गौरव गर्ग के अनुसार, अन्य एशियाई बाजारों में भारतीय इक्विटी शेयरों का कारोबार कम रहा क्योंकि पिछले सप्ताह के मुकाबले भारत में ओमिक्रॉन मामलों में वृद्धि दर्ज की गई है।

हमारे शोध से पता चलता है कि यदि बाजार 56,800 के स्तर को बनाए रखता है, तो हम बाजार के 56,800-57,200 के दायरे में व्यापार करने की उम्मीद कर सकते हैं।

एचएमए/आरजेएस