सिनेमा

यूक्रेनी फिल्म निर्माताओं ने रूसी फिल्मों के बहिष्कार का आह्वान किया

लॉस एंजेलिस, 17 अप्रैल ()। यूक्रेनी फिल्म निर्माताओं ने अंतरराष्ट्रीय डॉक्यूमेंट्री फिल्म फेस्टिवल विजन डू रील में एक ऑनलाइन बातचीत के दौरान तस्वीरों के माध्यम से युद्ध का विरोध करने के कार्य पर चर्चा की।

पैनल में निर्माता इलिया ग्लैडशेटिन और निर्देशक नादिया परफान, जिनकी फिल्म हीट सिंगर्स 2019 में फेस्टिवल में प्रदर्शित हुई थी, मक्सिम नकोनेचनी, जिनकी पहली फिल्म बटरफ्लाई विजन अगले महीने कान में अन सर्टन रिगार्ड सेक्शन में दिखाई जाएगी, और फोटोग्राफर और निर्देशक आर्टेम इउर्चेंको शामिल थे।

युद्ध के पहले दिनों से ही नाकोनेक्नी यूक्रेन में शूटिंग कर रही है और परफान अपने देश में क्या हो रहा था, इसका दस्तावेजीकरण करने के लिए रूसी आक्रमण के मद्देनजर मिस्र में एक कलाकार के निवास पर है। इउर्चेंको, युद्ध की शुरूआत के बाद से अपनी कार में यूरोप भर में यात्रा कर रहे है, शरणार्थियों, उपकरणों, चिकित्सा और मानवीय सहायता को यूक्रेन पहुंचा रहे हैं।

वैराइटी के अनुसार, एक यूक्रेनी बाल शरणार्थी की उनकी तस्वीर का एक स्मारकीय प्रिंट मार्च के मध्य में फ्रांसीसी कलाकार जेआर द्वारा युद्ध से प्रभावित बच्चों को श्रद्धांजलि देने के लिए लवीव के मुख्य चौक पर लगाई गई थी।

अधिकांश ऑनलाइन डिबेट इस बात पर केंद्रित थी कि पैनल के सदस्य रूस के पोस्ट क्लोनियल नैरेटिव के बारे में क्या सोचते हैं।

नाकोनेचनी ने कहा कि यह सेंसर वॉर है, सच्चाई के बाद का एक बहुत ही उदाहरणात्मक युद्ध जहां दुश्मन के पक्ष का अपना सच है जिसे वह लंबे समय से बना रहा है।

यह केवल हथियारों का युद्ध नहीं है बल्कि कथाओं और विचारों का है। इसलिए सेंसर बनाने वाले लोग रूस के शीर्ष दुश्मन हैं।

यह पूछे जाने पर कि क्या चित्र युद्ध के उपकरण थे, जैसा कि अमेरिकी छायाकार कस्र्टन जॉनसन ने पहले दिन में उत्सव में एक मास्टरक्लास के दौरान व्यक्त किया था, नाकोनेचनी ने उत्तर दिया, चित्र और शब्द, मुख्य उपकरणों में से एक हैं। यह छवियों स्वयं उपकरण नहीं होती है, लेकिन उनका क्या अर्थ है और उन्हें कैसे प्रस्तुत किया जाता है ये देखने वाली बात होती है।

तस्वीरें और हथियार नहीं मारते हैं, आपको हत्या करने के लिए एक इंसान की जरूरत है। लेकिन हां, तस्वीरें युद्ध का एक बड़ा हिस्सा हैं, वे हमेशा से थीं, और यह मामला पहले से कहीं अधिक गंभीर है।

विजन डू रील का 53वां संस्करण में हुई प्रतियोगिता में रूसी और यूक्रेनी दोनों फिल्मों को शामिल किया गया है।

एमएसबी/एसकेपी