अपराध

गेल परियोजना के विरोध में किसान ने की आत्महत्या, स्टालिन ने राहत देने की घोषणा की

चेन्नई, 17 अप्रैल ()। तमिलनाडु के मुख्यमंत्री एम.के. स्टालिन ने रविवार को धर्मपुरी जिले के करियप्पनल्ली गांव में गेल पाइपलाइन परियोजना का विरोध करने वाले एक किसान की मौत पर शोक व्यक्त किया।

उन्होंने मृतक के परिवार को मुख्यमंत्री जन राहत कोष से पांच लाख रुपये की सहायता राशि देने की भी घोषणा की है।

सी. गणेशन ने गेल परियोजना के विरोध में बुधवार को अपने खेत में पेड़ से लटककर आत्महत्या कर ली थी।

मुख्यमंत्री स्टालिन ने एक बयान में कहा कि द्रमुक सरकार पूर्व मुख्यमंत्री और पार्टी के संरक्षक दिवंगत एम. करुणानिधि के नक्शे कदम पर चल रही है, जिनकी किसानों के प्रति नीति जरूरतमंद दोस्त थी।

किसान करियप्पनहल्ली बस्ती में गेल के खिलाफ प्रस्तावित पाइपलाइन का विरोध कर रहे हैं और किसानों ने लगभग छह घंटे तक मृतक किसान के शव के साथ धर्मपुरी-होगेनकल राजमार्ग को अवरुद्ध कर दिया था।

किसानों ने शिकायत की कि गेल के अधिकारियों ने पुलिस और राजस्व अधिकारियों के साथ संयुक्त रूप से उन खेतों का सर्वेक्षण किया, जो उनके पास हैं और अधिकारी कृषि भूमि की तस्वीरें ली।

गणेशन की पत्नी सी. चिन्नावेल ने संवाददाताओं से कहा कि उनके पति अपने खेत और आसपास के खेतों में किए जा रहे सर्वेक्षणों से परेशान हैं। यह उनकी आत्महत्या का यही एकमात्र कारण है और उनके निधन के बाद परिवार काफी तनाव में है।

इस बीच, माकपा के पूर्व विधायक सी. दिलीबाबू ने कहा कि मुख्यमंत्री को राहत राशि को बढ़ाकर 15 लाख रुपये करना चाहिए, क्योंकि गणेशन परिवार के एकमात्र कमाने वाले थे।

एचके/एसकेपी