अपराध

अवैध हथियार सप्लाई करने वाले अंतरराज्यीय मॉड्यूल का भंडाफोड़, दो गिरफ्तार

नई दिल्ली, 24 नवंबर ()। दिल्ली पुलिस ने अवैध हथियार की सप्लाई करने वाले एक अंतरराज्यीय मॉड्यूल का भंडाफोड़ किया है और इस सिलसिले में दो डीलरों को गिरफ्तार किया है। एक अधिकारी ने बुधवार को यहां यह जानकारी दी।

अधिकारी के अनुसार, द्वारका जिले के एटीएस स्टाफ ने दो आरोपियों की पहचान हरियाणा के पलवल निवासी कुलदीप और गुरुग्राम जिले के दिलबाग के रूप की है। दोनों आरोपियों के पास से 10 देशी पिस्तौल, दो जिंदा कारतूस और एक चोरी की मोटरसाइकिल जब्त की गई है।

अभियान की जानकारी देते हुए पुलिस उपायुक्त शंकर चौधरी ने कहा कि गिरोह के दोनों सदस्य हरियाणा के हैं और काफी समय से दिल्ली-एनसीआर, हरियाणा और उत्तर प्रदेश में गैंगस्टरों को अवैध हथियारों की आपूर्ति करते थे।

चौधरी ने कहा, यह गिरोह पिछले छह महीने से सक्रिय है और इसने कई गैंगस्टरों और अपराधियों को 100 से अधिक अवैध पिस्तौल की आपूर्ति की है।

हाल के दिनों में द्वारका उपनगर में फायरिंग की कुछ घटनाएं हुई हैं। फायरिंग की इन घटनाओं की जांच करने पर यह सामने आया कि हथियारों की तस्करी हरियाणा या उत्तर प्रदेश से दिल्ली/एनसीआर में की गई थी।

अवैध बंदूकों की सप्लाई करने वालों को पकड़ने के लिए, इन अपराधियों के लिए उपलब्ध हथियारों के स्रोत के बारे में खुफिया जानकारी इकट्ठा करने के लिए एक एटीएस का गठन किया गया था।

जांच के दौरान पता चला कि कुलदीप और दिलबाग उर्फ बागे सहित एक गिरोह हरियाणा से अवैध हथियारों की तस्करी करके दिल्ली/एनसीआर में तस्करी कर गैंगस्टरों को सप्लाई करने में अत्यधिक सक्रिय था।

अधिकारी ने कहा, इस गिरोह के तौर-तरीकों के बारे में सावधानीपूर्वक अध्ययन किया गया और संदिग्ध व्यक्तियों पर कड़ी नजर रखी गई।

22 नवंबर को सूचना मिली थी कि दोनों आरोपी दिल्ली के रावता मोड़ के पास कुछ बदमाशों को अवैध बंदूकों की आपूर्ति करने के लिए दूधवाले के वेश में मोटरसाइकिल पर आ रहे हैं।

पुलिस तुरंत हरकत में आई और उस जगह पर पहुंच गई। कुछ देर इंतजार करने के बाद दोनों आरोपी मोटरसाइकिल पर आए और पुलिस टीम ने उन्हें रोक लिया।

दोनों सवारों की तलाशी लेने पर उनके पास से एक लोडेड देशी पिस्टल बरामद हुई। इसके बाद, मोटरसाइकिल के वाहक पर लटके दूध के कंटेनर की जांच की गई और उसमें आठ देशी पिस्तौलें मिलीं, जिन्हें सावधानीपूर्वक पैक किया गया था और दूध में डुबोया गया था।

पूछताछ करने पर उन्होंने खुलासा किया कि जेवर (यूपी) के पास गोविंदगढ़ निवासी भरत के निर्देश पर उनके द्वारा हथियारों की खेप रावता मोड़ ले जाया जा रहा था।

पुलिस ने भारतीय दंड संहिता की धारा 25, 54 और 59 (शस्त्र अधिनियम) के तहत प्राथमिकी दर्ज की है। दोनों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया है और उनके लीडर भरत को पकड़ने के लिए तलाशी अभियान शुरू कर दिया गया है।

एचके/एएनएम