अपराध

लखीमपुर खीरी कांड में एसआईटी ने किसानों से की पूछताछ

लखीमपुर खीरी, 19 अक्टूबर ()। लखीमपुर खीरी कांड की जांच कर रहे विशेष जांच दल (एसआईटी) ने स्थानीय किसानों पर शिकंजा कसना शुरू कर दिया है।

3 अक्टूबर को लखीमपुर खीरी में हुई हिंसा के दौरान तीन भाजपा कार्यकतार्ओं की कथित रूप से पीट-पीट कर हत्या करने के मामले में प्राथमिकी के संबंध में विशेष जांच दल (एसआईटी) ने 50 से अधिक किसानों को तलब किया है।

आपराधिक प्रक्रिया संहिता (सीआरपीसी) की धाराओं के तहत नोटिस जारी किए जाने के बाद कथित लिंचिंग मामले में 15 किसान सोमवार को एसआईटी के समक्ष अपना बयान दर्ज कराने के लिए पेश हुए।

एसआईटी के एक अधिकारी ने कहा कि हम दोनों प्राथमिकी की जांच कर रहे हैं और किसानों को दूसरी प्राथमिकी के संबंध में तलब किया गया है।

सूत्रों ने बताया कि हर किसान से उनके वकील मोहम्मद अमान की मौजूदगी में 15 मिनट से अधिक समय तक पूछताछ की गई।

भारतीय सिख संगठन के अध्यक्ष जसबीर सिंह विर्क ने संवाददाताओं से कहा कि एसआईटी के समक्ष पेश हुए 15 किसानों में से केवल 11 ने अपना बयान दर्ज कराया।

उन्होंने कहा कि एसआईटी ने घटना से संबंधित सवाल पूछे और दोनों प्राथमिकी के लिए एक ही बयान दर्ज किया गया। उनसे सवाल पूछा गया कि उन्हें कैसे पता चला कि वे खतरे में हैं और किसानों को कुचलने के बाद उन्होंने क्या किया। हमने एसआईटी से कहा है कि किसान उनके साथ सहयोग करेंगे।

एसआईटी ने सोमवार को केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्रा के बेटे आशीष के चार सहयोगियों को भी गिरफ्तार किया था। आरोपियों में सुमित जायसवाल भी शामिल है, जिन्होंने किसानों के खिलाफ क्रॉस एफआईआर दर्ज कराई थी। उनके काफिले द्वारा कथित तौर पर चार किसानों और एक पत्रकार को कुचले जाने के बाद से वह फरार हो गया था।

लखीमपुर खीरी हिंसा का कथित तौर पर वायरल हुए एक वीडियो में, जायसवाल नीले रंग के कुर्ते में किसानों को कुचलने वाली एसयूवी थार से बाहर निकलते हुए दिखाई दे रहे थे। इसके बाद उन्होंने न्यूज चैनलों को कई इंटरव्यू दिए। जिस दिन एसआईटी बनी, वह अचानक लापता हो गया।

जायसवाल भाजपा कार्यकर्ता और लखीमपुर शहर के वार्ड सदस्य हैं।

मामले में एसआईटी ने कुल 10 गिरफ्तारियां की हैं।

विशेष अभियोजन अधिकारी एसपी यादव ने कहा कि चारों आरोपियों को मंगलवार को रिमांड मजिस्ट्रेट के सामने पेश किया जाएगा क्योंकि छुट्टी के कारण नियमित अदालत बंद रहेगी। उन्होंने कहा, एसआईटी आरोपी से पूछताछ कर रही है और जरूरत पड़ने पर रिमांड की मांग भी कर सकती है।

Niharika Times We would like to show you notifications for the latest news and updates.
Dismiss
Allow Notifications