अपराध

त्रिपुरा के मुख्यमंत्री ने बांग्लादेश सरकार से अल्पसंख्यकों की रक्षा करने का आग्रह किया

अगरतला/गुवाहाटी, 19 अक्टूबर (आईएएनएस)। त्रिपुरा के मुख्यमंत्री बिप्लब कुमार देब ने मंगलवार को बांग्लादेश सरकार से देश में अल्पसंख्यकों के जीवन, संपत्ति और धार्मिक स्थलों की रक्षा करने का आग्रह किया।

मीडिया को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि ऐसा लगता है कि कट्टरपंथी ताकतों ने अपनी पूर्व नियोजित साजिशों के तहत अल्पसंख्यकों पर हमला किया है और पिछले सप्ताह समाप्त हुए दुर्गा पूजा उत्सव की मूर्तियों और पंडालों में तोड़फोड़ की है।

उन्होंने कहा, हाल की घटनाएं बहुत शर्मनाक हैं। मुझे बांग्लादेश प्रशासन पर भरोसा है। वे स्थिति से प्रभावी ढंग से निपटेंगे। भारत और बांग्लादेश के बीच दोस्ती बहुत पुरानी है। हमें इसे बनाए रखना चाहिए। कट्टरपंथियों या किसी अन्य ताकत को इन्हें नष्ट करने की अनुमति नहीं दी जानी चाहिए।

देब ने पिछले हफ्ते बांग्लादेश में भारतीय उच्चायुक्त विक्रम के. दोराईस्वामी से बात की थी।

उनकी बातचीत के बारे में बात करते हुए, सीएम के एक करीबी सूत्र ने आईएएनएस को बताया, दोराईस्वामी ने देब को सूचित किया कि उन्होंने और बांग्लादेश में विभिन्न राजनयिक मिशनों में अन्य भारतीय अधिकारियों ने जमीनी स्तर पर घटनाओं का विवरण जानने के लिए विभिन्न स्थानों का दौरा किया है।

असम और त्रिपुरा में कई अन्य संगठनों, बुद्धिजीवियों, राजनीतिक दलों और गैर सरकारी संगठनों ने बांग्लादेश में हिंसक घटनाओं की निंदा करते हुए इस तरह के कृत्यों के खिलाफ विरोध रैलियों आयोजन किया है।

विभिन्न संगठनों और बुद्धिजीवियों ने अगरतला और गुवाहाटी में बांग्लादेश के सहायक उच्चायुक्तों से मुलाकात की और उनसे आग्रह किया कि वे अपनी सरकार से अल्पसंख्यकों पर हमला करने वालों, दुर्गा पूजा पंडालों और गैर-मुस्लिम परिवारों की संपत्तियों पर हमला करने वालों के खिलाफ कार्रवाई सुनिश्चित करने का अनुरोध करें।

मीडिया रिपोटरें के अनुसार, दुर्गा पूजा स्थल पर कुरान के कथित अपमान के बारे में सोशल मीडिया पर अपुष्ट पोस्ट वायरल होने के बाद, पिछले हफ्ते की शुरुआत में कोमिला में हिंसा भड़क उठी थी, जिसके बाद लोगों की भीड़ द्वारा हिंदू मंदिरों में तोड़फोड़ की गई थी।

चांदपुर के हाजीगंज उप-जिले में दुर्गा पूजा पंडालों पर हमले और पुलिस और भीड़ के बीच झड़प के मामले में दर्ज एफआईआर के सिलसिले में चांदपुर, चटगांव और अन्य जगहों पर बड़ी संख्या में लोगों को हिरासत में लिया गया है। उक्त हिंसा और झड़प में चार लोगों की मौत हो गई थी।

हाजीगंज, चांदपुर, नोआखाली, कॉक्स बाजार, चट्टोग्राम, चपैनवाबगंज, पबना, मौलवीबाजारा, कुरीग्राम और कई अन्य स्थानों से भी हिंसा की घटनाएं सामने आई हैं।

प्रधानमंत्री शेख हसीना ने दुर्गा पूजा के दौरान कोमिला मंदिर में एक हिंदू देवता के चरणों में कुरान की नकली तस्वीरें फैलाकर सांप्रदायिक अशांति भड़काने में शामिल लोगों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई का वादा किया है।

–आईएएनएस

एकेके/एसजीके

Niharika Times We would like to show you notifications for the latest news and updates.
Dismiss
Allow Notifications