दिल्लीभारत

कोरोना से ठीक हुए मरीज़ों में अब गॉलब्लैडर की समस्या, ब्लड शुगर भी तेजी से बढ़ने की शिकायत- रिपोर्ट

कोरोना से ठीक हो चुके मरीजों का एक सर्वे किया गया इस सर्वे में पता चला कि कई लोग बढ़े शुगर लेवल, थकान, सिरदर्द समेत कई परेशानियों का सामना कर रहे थे.

कोरोना से ठीक हुए मरीज़ों में अब गॉलब्लैडर की समस्या, ब्लड शुगर भी तेजी से बढ़ने की शिकायत- रिपोर्ट

नई दिल्ली. कोरोना वायरस को लेकर हर दिन नई नई चुनौतियां का सामना करना पड़ रहा हैं. हाल ही में एक रिपोर्ट में यह सामने आया है की कोविड-19 से संक्रमित व्यक्ति के बीमारी से उबरने के बाद इनमें गॉलब्लैडर (Gallbladder) में सूजन जैसी परेशानियां नजर आ रही हैं. हाल ही में हुए एक सर्वे में भी सामने आया था कि बीमारी से उबर चुके मरीजों में ब्लड शुगर का स्तर तेजी से बढ़ रहा है।

Times of india की एक रिपोर्ट के मुताबिक, एक 48 साल की महिला को कोविड के बाद गॉलब्लेडर में सूजन आई है. डॉक्टर्स इस मामले को देखकर हैरान हैं. देखा जाए तो इस तरह की सूजन पथरी की वजह से होती है, जो गॉलब्लैडर से छोटी आंत तक जाने वाले ट्यूब को बंद कर देती है।

यह भी पढ़े, वैक्सिनेशन ना करवाने वाले हो जाए सावधान, नए-नए वेरिएंट्स की बन सकते है ‘फैक्ट्री, WHO के विशेषज्ञों ने चेताया

TOI से बातचीत में दिल्ली के मूलचंद मेडसिटी हॉस्पिटल के डॉक्टर्स ने बताया कि इस महिला को पथरी नहीं थी. साथ ही उन्हें गॉलब्लैडर से जुड़ी बीमारी भी कभी नहीं हुई थी, जो इस परेशानी का कारण बने. हालांकि, कोविड का सामना करने के बाद भी स्वास्थ्य से जुड़ी परेशानियों का यह पहला मामला नहीं है. कई मरीजों में गैंग्रीन जैसे हालात भी देखे गए हैं।

चोंकाने वाले खुलासे हुए AIIMS के सर्वे में:

हाल ही में AIIMS पटना में कोरोना से ठीक हो चुके मरीजों का एक सर्वे किया गया इस सर्वे में पता चला कि कई लोग बढ़े शुगर लेवल, थकान, सिरदर्द समेत कई परेशानियों का सामना कर रहे थे. डॉक्टर्स ने इस दौरान करीब 3 हजार लोगों से बात की थी.

सर्वे से क्या जानकारी मिली?:

करीब तीन हजार लोगों में से 480 या 16 फीसदी ने बताया कि कोविड से उबरने के बाद उनका ब्लड शुगर स्तर बढ़ा है. 840 या 28 प्रतिशत लोगों ने कहा कि ठीक होने के लंबे समय के बाद भी वे कमजोर महसूस कर रहे हैं. 636 या 21.2 फीसद लोगों ने कहा कि उन्हें थकान रहती है. इसके अलावा 15.8% को खांसी, 5% को सांस लेने में परेशानी, 0.33% को गैंग्रीन, 7% को हायपरटेंशन, 0.16% को ब्लैक फंगस और करीब 4% को मानसिक समस्याएं हुईं।

Tina Chouhan

Author, Editor, Web content writer, Article writer and Ghost writer

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker