दिल्लीभारत

जामिया में फायरिंग करने वाले आरोपी ने लिया महापंचायत में हिस्सा, मुस्लिम महिलाओं के बारे में कह दी ऐसी बात, वीडियो वायरल

जामिया में फायरिंग करने वाले युवक ने कही आपत्तिजनक बाते, 'मैं जिहादियों और आतंकवादी मानसिकता के लोगों को संदेश देना चाहता हूं कि जब मैं सीएए के समर्थन में जामिया जा सकता हूं तो पटौदी ज्यादा दूर नहीं है.'

जामिया में फायरिंग करने वाले आरोपी ने लिया महापंचायत में हिस्सा, मुस्लिम महिलाओं के बारे में कह दी ऐसी बात, वीडियो वायरल

नई दिल्ली. पिछले साल नागरिकता कानूनों के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे लोगों पर जामिया मिलिया इस्लामिया के पास फायरिंग करना वाला आरोपी एकबार फिर सुर्खियों में है। दरअसल, आरोपी ने रविवार को हरियाणा के पटौदी में एक महापंचायत में हिस्सा लिया, जहां उसने भीड़ को मुस्लिम महिलाओं के अपहरण के लिए उकसाया। साथ ही उसने मुसलमानों पर हमले करने की भी बात कही।

यह भी पढ़े, हिंदू-मुस्लिम का DNA एक’, संघ प्रमुख ने कहा, ओवैसी-दिग्विजय के पलटवार से भड़कीं VHP, कहा ये…

हरियाणा के पटौदी में धर्मांतरण, लव जिहाद, जनसंख्या नियंत्रण जैसे मुद्दों को लेकर बीते रविवार को एक महापंचायत बुलाई गई थी. इस महापंचायत का एक कथित वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ है. इसमें जामिया के पास गोलीबारी करने का आरोपी युवक आपत्तिजनक बातें कहता हुआ सुनाई पड़ रहा है. इस वीडियो में वह कह रहा है, ‘मैं जिहादियों और आतंकवादी मानसिकता के लोगों को संदेश देना चाहता हूं कि जब मैं सीएए के समर्थन में जामिया जा सकता हूं तो पटौदी ज्यादा दूर नहीं है.’ आरोपी ने मुस्लिम महिलाओं के अपहरण के लिए भीड़ को उकसाया. उसने मुसलमानों के लिए आपत्तिजनक भाषा का इस्तेमाल करते हुए कहा कि जब उनको मारा जाएगा तो वे राम-राम चिल्लाएंगे।

पिछले साल फायरिंग के समय चिल्लाया था, ये लो आजादी:

आरोपी 30 जनवरी 2020 को जामिया मिलिया इस्लामिया यूनिवर्सिटी के बाहर हथियार लेकर पहुंचा था और नागरिकता कानून के विरोध में प्रदर्शन कर रहे लोगों पर फायरिंग की थी। इस घटना में एक युवक घायल भी हुआ था। फायरिंग करते वक्त वह चिल्ला रहा था, ‘ये लो आजादी…वंदे मातरम, दिल्ली पुलिस जिंदाबाद।’ बाद में पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर लिया था। हालांकि घटना के वक्त उसके नाबालिग होने की वजह से उसे बाल सुधार गृह भेजा गया था, जहां से हाल ही में वह बाहर निकला है।

कार्रवाई की मांग:

सोशल मीडिया पर यूजर्स इस वीडियो के देखकर काफी नाराजगी जता रहे हैं. इस वीडियो के सामने आने के बाद आरोपी पर कानूनी कार्रवाई की मांग तेज हो गई है. इसी बैठक में बीजेपी के प्रवक्ता और करणी सेना के नेता सूरजपाल अम्मू भी मौजूद थे. उनपर भी नफरती भाषण देने का आरोप है. गौरतलब है कि अम्मू ने इस महापंचायत में लोगों से अपील की थी कि इतिहास बनाएं, इतिहास बनें नहीं।

Tina Chouhan

Author, Editor, Web content writer, Article writer and Ghost writer

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker