दिल्लीभारत

टीकाकरण: वयस्को का वैक्सीनेशन होने के बाद अब बच्चों में फैलने लगा वायरस, हो रहे तेजी से शिकार

कोरोना वैक्‍सीन लगवाने के बाद से 18 साल से अधिक उम्र के लोगों में तो कोरोना का खतरा कम हो गया है लेकिन बच्‍चों में कोरोना संक्रमण की रफ्तार अब तेजी से बढ़ती दिखाई पड़ रही है.

टीकाकरण: वयस्को का वैक्सीनेशन होने के बाद अब बच्चों में फैलने लगा वायरस, हो रहे तेजी से शिकार

नई दिल्‍ली. कोरोना की तीसरी लहर को लेकर जैसे कयास लगाए जा रहे थे, वैसा ही अब दुनियाभर के देशों में देखने को मिल रहा है. कोरोना वैक्‍सीन लगवाने के बाद से 18 साल से अधिक उम्र के लोगों में तो कोरोना का खतरा कम हो गया है लेकिन बच्‍चों में कोरोना संक्रमण की रफ्तार अब तेजी से बढ़ती दिखाई पड़ रही है. हाल में आई एक रिपोर्ट के मुताबिक जिन देशों में वयस्‍कों में तेजी से टीकाकरण हो रहा है वहां पर कोरोना संक्रमित बच्‍चों की संख्‍या बढ़ती दिख रही है. रिपोर्ट को देखते हुए विशेषज्ञों ने सलाह दी है कि सभी देशों को जल्‍द से जल्‍द बच्‍चों की वैक्‍सीन की शुरुआत कर देनी चाहिए.

यह भी पढ़े, इराक के हॉस्पिटल के कोरोना वॉर्ड में लगी आग, 50 लोगों की मौत, दर्जन घायल

नेचर में प्रकाशित खबर के मुताबिक इजरायल में सबसे अधिक 85 फीसदी लोगों को वैक्‍सीन लगाईजा चुकी है. ऐसे में वहां पर कोरोना के बढ़ते मामलों पर नजर दौड़ाए तो 50 फीसदी से अधिक संक्रमितों में 19 साल या उससे कम उम्र के बच्‍चे शामिल हैं. रिपोर्ट के मुताबिक जैसे-जैसे अधिक उम्र के लोग वैक्‍सीन लेकर अपने आपको सुरक्षित कर रहे हैं वैसे-वैसे बच्‍चों में कोरोना संक्रमण का खतरा बढ़ता जा रहा है.

रिपोर्ट के मुताबिक ऐसी ही तस्‍वीर अमेरिका और ब्रिटेन में भी देखने को मिल रही है. इजराइल और अमेरिका जैसे देशों ने बच्‍चों में कोरोना संक्रमण की रफ्तार को देखते हुए 15 साल से कम उम्र के बच्‍चों का टीकाकरण शुरू भी कर दिया है. बता दें कि इजरायल में जून के महीने में हर दिन कोरोना के लगभग 10 से 12 मामले आया करते थे जबकि इस समय इनकी संख्‍या बढ़कर अब 100 से ज्‍यादा हो चुकी है।

51.4 फीसदी संक्रमितों में 19 साल से कम उम्र के बच्‍चे शामिल:

इजरायल के स्‍वास्‍थ्‍य विभाग के मुताबिक 5 जुलाई को देश में आए कोरोना संक्रमण के मामलों में 11.8 प्रतिशत मामले 0-9 साल के बच्चों में पाए गए हैं जबकि 10-19 साल की उम्र के 39.6 फीसदी बच्‍चे कोरोना संक्रमित हुए. आकड़ों पर गौर करें तो 51.4 फीसदी संक्रमितों में 19 साल से कम उम्र के बच्‍चे शामिल हैं. यूनिवर्सिटी ऑफ कैलिफोर्निया बर्कले के विशेषज्ञ जोसुआ गोल्डस्टेन का कहना है कि सभी देशों को जल्‍द से जल्‍द बच्‍चों के टीकाकरण अभियान के बारे में सोचना होगा. उन्‍होंने कहा कि जिस बात का डर था वैसे ही संकेत मिलने शुरू हो गए हैं. बच्‍चों में कोरोना का खतरा लगातार बढ़ता जा रहा है।


 

Tina Chouhan

Author, Editor, Web content writer, Article writer and Ghost writer

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker