दिल्ली

डेल्टा वेरियंट: कोविशिल्ड और कोवेक्सिन लगवाने के बाद भी हो रहे संक्रमित

डेल्टा वेरियंट की वजह से मई के शुरुआत में हर दिन चार लाख से अधिक मामले सामने आ रहे थे। वही कॉविशिल्ड व कोवेक्सिन के दोनों डोज लेने के बाद भी लोग कोरोना से संक्रमित हो रहे है।

डेल्टा वेरियंट: कोविशिल्ड और कोवेक्सिन लगवाने के बाद भी हो रहे संक्रमित

नई दिल्ली. एम्स दिल्ली और नेशनल सेंटर ऑफ डिसीज कंट्रोल के अलग-अलग अध्ययनों में यह बात सामने आई है

कि कॉविशिल्ड व कोवेक्सिन के दोनों डोज लेने के बाद भी लोग कोरोना से संक्रमित हो रहे है, कारण है डेल्टा वेरियंट।

रिपोर्ट के मुताबिक भारत मे पाया गया डेल्टा वेरियंट ब्रिटेन के अल्फा वेरियंट से 40 से 50 गुना ज्यादा खतरनाक है।

भारत में यह वेरियंट (डेल्टा ( B.1.617.2) अक्टूबर 2020 में पाया गया।

भारत मे इस तरह के ब्रेक थ्रू इंफेक्शन को देखते हुए दो बार जाँच की गईं।

यह भी पढ़ें, नुसरत जहाँ ने अपनी शादी को लेकर दिया बड़ा बयान, बोली यह शादी वैध नहीं

दिसम्बर 2021 तक मिलेगी वैक्सीन की 250 करोड़ डोज, जाने सरकार का पूरा प्लान

दोनों स्टडी में यह पता चला कि डेल्टा वेरियंट कॉविशिल्ड व कोवक्सीन की डोज लगवाने वाले लोगो को संक्रमित करने में सक्षम है।

स्टडी में यह सामने आया कि अल्फा व डेल्टा वेरियंट दोनों

वैक्सीन (कोविशिल्ड व कोवेक्सिन) लगवाने वाले लोगो मे भी संक्रमण पाया गया।

AIIMS, IGIB का 63 मरीजो पर किया गया विश्लेषण है,

जिन्हें पांच से सात दिन तक तेज बुखार की शिकायत हुई थी तथा जो इमरजेंसी वार्ड में भर्ती थे।

डेल्टा वेरियंट: कोविशिल्ड और कोवेक्सिन लगवाने के बाद भी हो रहे संक्रमित

इन 63 मे से 53 लोग कोविशिल्ड की डोज ले चुके थे जबकि 36 लोगों को कोवेक्सिन का डोज लिए हुए थे।

यह वेरियंट ऐसे 76.9 फीसदी लोगो मे देखा गया जिन्हें वैक्सीन का एक डोज मिला गया था।

जबकि 60 फीसदी लोग ऐसे थे जिन्हें कोविशिल्ड व कोवेक्सिन के दोनों डोज दिए गए थे।

कोवक्सीन डेल्टा व बीटा दोनों से सुरक्षा देता है। बीटा वेरियंट सबसे पहले दक्षिण अफ्रीका में पाया गया।

SARS COV2 जीनोमिक कन्सोर्टिया के वैज्ञानिकों ने यह संकेत दिया है

कि कोविड की दूसरी कहर के पीछे यही वेरियंट ही था।

मई के शुरुआत में इस खतरनाक वेरियंट की वजह से हर दिन चार लाख से अधिक मामले सामने आ रहे थे।

Tina Chouhan

Author, Editor, Web content writer, Article writer and Ghost writer

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker