दिल्लीभारत

दिल्ली सरकार ऑडिट टीम की रिपोर्ट पर घिरी “दूसरी लहर के समय जरूरत से 4 गुना ज्यादा ऑक्सीजन कि की थी मांग”

दिल्ली सरकार द्वारा 1200 मीट्रिक टन ऑक्सीजन की मांग का शोर मचाया जा रहा था. तब दिल्ली को सिर्फ 300 मीट्रिक टन ऑक्सीजन की ही जरूरत थी।

दिल्ली सरकार ऑडिट टीम की रिपोर्ट पर घिरी “दूसरी लहर के समय जरूरत से 4 गुना ज्यादा ऑक्सीजन कि की थी मांग”

नई दिल्ली. कोरोना की दूसरी लहर के समय पूरे देश मे ऑक्सीजन की कमी के कारण लोग त्राहि त्राहि कर रहे थे। देश में काफी हाहाकार मचा था. यहां तक की बड़े-बड़े शहरों में लोग ऑक्सीजन के लिए भटक रहे थे, यही नही अस्पतालों में भी ऑक्सीजन की किल्लत थी। ऐसे में सुप्रीम कोर्ट द्वारा एक ऑक्सीजन ऑडिट टीम बनाई गई थी, जिसकी शुरुआती रिपोर्ट अब सामने आई है।

यह भी पढ़े, महाराष्ट्र. पूर्व गृह मंत्री अनिल देशमुख के घर ED ने मारा छापा

सुप्रीम कोर्ट द्वारा गठित ऑक्सीजन ऑडिट टीम की रिपोर्ट से दिल्‍ली की अरविंद केजरीवाल सरकार पर गंभीर सवाल उठे हैं. ऑडिट टीम की रिपोर्ट ने ऑक्सीजन सप्लाई को लेकर दिल्ली सरकार को कठघरे में खड़ा कर दिया है।

रिपोर्ट के अनुसार, जब दिल्ली सरकार द्वारा 1200 मीट्रिक टन ऑक्सीजन की मांग का शोर मचाया जा रहा था. तब दिल्ली को सिर्फ 300 मीट्रिक टन ऑक्सीजन की ही जरूरत थी।

दरअसल, राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में 25 अप्रैल से 10 मई के बीच कोरोना वायरस की दूसरी लहर काफी तेज थी। शीर्ष अदालत द्वारा जो ऑडिट टीम गठित की गई थी ने छानबीन में पाया कि उस दौरान दिल्‍ली सरकार ने जरूरत से चार गुना ज्‍यादा ऑक्‍सीजन की डिमांड की थी. कमेटी ने सुप्रीम कोर्ट को सूचित किया है कि मांग के अनुरूप दिल्ली को ऑक्सीजन की अतिरिक्त आपूर्ति भी की गई जिसके कारण 12 राज्यों में ऑक्सीजन की सप्‍लाई प्रभावित हुई थी।

ऑडिट टीम ने बताया कि दिल्ली की जितनी बिस्तर क्षमता थी उसके हिसाब से 289 मीट्रिक टन ऑक्‍सीजन की ही आवश्यकता थी, लेकिन दिल्ली सरकार द्वारा 1,140 एमटी ऑक्‍सीजन की मांग की गई थी।
कमिटी ने यह भी कहा कि जितनी ऑक्सीजन की जरूरत दिल्ली को थी, उससे कई ज्यादा उन्होंने डिमांड की। दिल्ली को एक तरफ जरूरत से ज्यादा ऑक्सीजन मिल रही थी, तो वहीं दूसरी ओर राजस्थान, उत्तर प्रदेश, हरियाणा और हिमाचल प्रदेश ऑक्सीजन की कमी से बुरी तरह से जूझ रहे थे।

ऑडिट पैनल की इस रिपोर्ट के बाद राजनीतिक प्रतिक्रियाएं आने लगी है। केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने ट्वीट कर लिखा कि ऑक्सीजन की मांग जितनी थी उससे 4 गुना ज्यादा की और बाकि प्रदेशों को उसका नुकसान उठाना पड़ा, उनको कमी पड़ी. शोर मचाना कोई दिल्ली सरकार से सीखे।

Tina Chouhan

Author, Editor, Web content writer, Article writer and Ghost writer

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker