दिल्लीभारत

पाकिस्तान के इस्‍लामाबाद स्थित भारतीय दूतावास पर देखा गया ड्रोन, भारत ने जताया विरोध

पाकिस्तान के इस्‍लामाबाद में स्थिति भारतीय उच्चायोग में 26 जून को रात के 10 बजे ड्रोन देखा गया था। जिसके बाद भारत ने सुरक्षा उल्लंघन को लेकर पाकिस्तान के समक्ष कड़ा विरोध दर्ज कराया है।

पाकिस्तान के इस्‍लामाबाद स्थित भारतीय दूतावास पर देखा गया ड्रोन, भारत ने जताया विरोध

नई दिल्‍ली. पाकिस्‍तान के इस्‍लामाबाद में स्थिति भारतीय उच्चायोग में 26 जून को रात के 10 बजे ड्रोन देखा गया था। जिसके बाद भारत ने सुरक्षा उल्लंघन को लेकर पाकिस्तान के समक्ष कड़ा विरोध दर्ज कराया है। लेकिन पाकिस्तान की तरफ से अब तक कोई ब्यौरा नहीं दिया गया है।

यह भी पढ़े, जम्‍मू के सैन्‍य कैंप के ऊपर दिखे ड्रोन, जवानों ने की फायरिंग, निशाना चुका

26 जून का दिन इसलिए भी अहम है, क्‍योंकि उसी रात 1.30 बजे यानी कि साढ़े तीन घंटे के बाद पहली बार जम्मू एयर बस पर ड्रोन हमला किया गया। उसके बाद जम्मू के इलाके में ड्रोन के देखे जाने का सिलसिला चल निकला है। मतलब ये कि हाई कमीशन में ड्रोन जम्मू में हुए हमले से पहले देखा गया था।
लेफ्टिनेंट जनरल डीपी पांडे, श्रीनगर में 15 कोर के कोर कमांडर ने बताया कि भारतीय वायु सेना के अड्डे पर रविवार के ड्रोन हमलों में इस्तेमाल की गई तकनीक “राज्य-समर्थन” और पाकिस्तान स्थित आतंकवादी समूहों जैश-ए-मोहम्मद और लश्कर-ए-तैयबा की भागीदारी का संकेत देती है।

उधर सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) ने अंतरराष्ट्रीय सीमा से भारतीय क्षेत्र में घुसने का प्रयास कर रहे एक संदिग्ध पाकिस्तानी निगरानी ड्रोन पर शुक्रवार को गोलीबारी की. अधिकारियों ने यह जानकारी दी. उन्होंने बताया कि बीएसएफ के सतर्क जवानों ने तड़के चार बजकर 25 मिनट पर जम्मू के बाहरी क्षेत्र में स्थित अरनिया सेक्टर में संदिग्ध ड्रोन को देखा. इसे गिराने के लिए सीमा सुरक्षा बल के जवानों ने आधा दर्जन गोलियां चलाई जिसके बाद ड्रोन पाकिस्तान की ओर लौट गया.

बीएसएफ के प्रवक्ता ने बताया, ‘बल के चौकन्ना जवानों ने आज अरनिया सेक्टर में अंतरराष्ट्रीय सीमा पार करने का प्रयास कर रहे पाकिस्तान के एक छोटे ड्रोन पर गोलीबारी की. गोलीबारी की वजह से ड्रोन तुरंत ही लौट गया.’ उन्होंने बताया कि ड्रोन इलाके की निगरानी करने के लिए आया था.

रविवार को यहां स्थित भारतीय वायुसेना के स्टेशन पर ड्रोन हमले के बाद से जम्मू-कश्मीर में सुरक्षा बल हाई अलर्ट पर हैं. तब जम्मू हवाई अड्डा परिसर में स्थित वायुसेना स्टेशन पर विस्फोटकों से लदे ड्रोन गिराए गए थे. अधिकारियों का कहना था कि ऐसा शायद पहली बार हुआ है कि पाकिस्तान के संदिग्ध आतंकवादियों ने हमले में मानवरहित यान का इस्तेमाल किया है. इसके बाद सोमवार, मंगलवार और बुधवार को भी जम्मू के विभिन्न इलाकों में रात के वक्त महत्वपूर्ण सैन्य प्रतिष्ठानों के ऊपर ड्रोन उड़ते नजर आए थे।

Tina Chouhan

Author, Editor, Web content writer, Article writer and Ghost writer

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker