दिल्लीभारत

मानसून ने दी राजस्थान में दस्तक, गुजरात की और बढ़ा लेकिन दिल्ली पहुँचने में अभी समय

मानसून गुजरात, राजस्थान, मध्य प्रदेश और उत्तर प्रदेश के कुछ और हिस्सों में आगे बढ़ गया है। अधिकारियों ने बताया कि दिल्ली को मानसून की बौछारों के लिए अभी इंतजार करना होगा। मानसूनी हवाओं के 27 जून तक राष्ट्रीय राजधानी पहुंचने का अनुमान है।

मानसून ने दी राजस्थान में दस्तक, गुजरात की और बढ़ा लेकिन दिल्ली पहुँचने में अभी समय

नई दिल्ली. भारत मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) ने शुक्रवार को बताया कि दक्षिण पश्चिमी मानसून गुजरात, राजस्थान, मध्य प्रदेश और उत्तर प्रदेश के कुछ और हिस्सों में आगे बढ़ गया है। अधिकारियों ने बताया कि दिल्ली को मानसून की बौछारों के लिए अभी इंतजार करना होगा। मानसूनी हवाओं के 27 जून तक राष्ट्रीय राजधानी पहुंचने का अनुमान है। विभाग ने कहा कि अगले 24घंटे में गुजरात ,दक्षिण राजस्थान ,पश्चिमी उत्तर प्रदेश और मध्य प्रदेश के शेष हिस्सों में मानसून के आगे बढ़ने के लिए स्थितियां अनुकूल हैं। मानसून की उत्तरी सीमा (एनएलएम) जूनागढ़, दीसा, गुना,कानपुर,मेरठ, अंबाला और अमृतसर से हो कर गुजर रही है।

पछुआ हवाओं के कारण रफ्तार बिगड़ी:
आईएमडी ने गुरुवार को कहा था, ‘पश्चिमी (पछुआ) हवाओं का असर मॉनसून पर 23 जून तक बना रह सकता है। लिहाजा, राजस्थान, पंजाब के शेष हिस्से, हरियाणा और दिल्ली में इस दौरान मॉनसून नहीं पहुंचने के आसार है।’
इसने कहा कि मॉनसून के आगे बढ़ने का क्रम 26 जून और 30 जून के बीच धीरे-धीरे मजबूत होने की उम्मीद है। इस दौरान वह उत्तर पश्चिम भारत के अधिकतर हिस्सों में पहुंचेगा।

यह भी पढें, हिमाचल में लगातार 10 घण्टे हुई भारी बारिश, लैंडस्लाइड होने से बंद हुआ हाइवे

राजस्थान पहुँचा मानसून:
जानकारी के अनुसार, दक्षिण पश्चिम मानसून शुक्रवार को राजस्थान की सीमा में पहुंच गया और इसके आने वाले दिनों में और आगे बढ़ने का अनुमान है। स्थानीय मौसम विभाग ने इसकी जानकारी दी है।

मौसम केंद्र जयपुर के प्रवक्ता ने बताया कि दक्षिण पश्चिम मानसून ने 18 जून को दक्षिण पूर्वी राजस्थान होते हुए प्रदेश में प्रवेश किया और इसकी उत्तरी सीमा राज्य के उदयपुर एवं झालावाड़ जिलों से गुजर रही है। प्रवक्ता के अनुसार अगले 24 घंटों के दौरान दक्षिण पश्चिम मानसून के दक्षिण राजस्थान के कुछ हिस्सों में आगे बढ़ने के लिए परिस्थितियां अनुकूल हैं।
उन्होंने बताया कि इस बीच इस महीने एक जून से अब तक राज्य में मानसून पूर्व व इतर अच्छी बारिश हुई। समग्र रूप से इन 18 दिन में समूचे राजस्थान में सामान्य रूप से 20.0 मिमी. बारिश के बजाय वास्तविक बारिश 29.2 मिमी. रही है।

मानसून कब पहुँचेगा दिल्ली:
मौसम विभाग ने पहले पूर्वानुमान जताया था कि मॉनसून 12 दिन पहले ही 15 जून तक दिल्ली पहुंच जाएगा। मॉनसून सामान्य तौर पर 27 जून तक दिल्ली पहुंचता है और आठ जुलाई तक पूरे देश में छा जाता है।
निजी पूर्वानुमान एजेंसी स्काइमेट वेदर के मुताबिक, पिछले वर्ष मॉनसून 25 जून को दिल्ली पहुंचा था और 29 जून तक इसने पूरे देश को कवर कर लिया था।

IMD की चेतावनी:
आईएमडी ने चेतावनी दी थी कि उत्तराखंड, उत्तर प्रदेश, पूर्वी मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़, बिहार और झारखंड में शुक्रवार को तेज हवाओं के साथ ‘मध्यम से भारी’ स्तर की बारिश हो सकती है। कई स्थानों पर आकाशीय बिजली गिर सकती है।

15 मिलीमीटर से कम वर्षा को हल्की, 15 मिमी से 64.5 मिमी वर्षा को मध्यम, 64.5 से 115.5 मिमी वर्षा को भारी, 115.6 और 204.4 मिमी के बीच बहुत भारी वर्षा माना जाता है। 204.4 मिमी से अधिक वर्षा को अत्यधिक भारी वर्षा की श्रेणी में माना जाता है।

Tina Chouhan

Author, Editor, Web content writer, Article writer and Ghost writer

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker