दिल्ली

संक्रमित माता-पिता की अपनी बेटियों की शादी करने से पहले ही हुई मौत, कोविड डेथ लिस्ट से नाम गायब

संक्रमित होने के बाद पहले पिता और फिर मां की मौत हो जाने से बच्चों के पैरों तले जमीन खिसक गई। हसंते खेलते परिवार की खुशियां दस दिनों के भीतर ही मातम में तब्दील हो गई।

संक्रमित माता-पिता की अपनी बेटियों की शादी करने से पहले ही हुई मौत, कोविड डेथ लिस्ट से नाम गायब

भिलाई. भिलाई में हुई इस घटना ने सभी के दिलो को तोड़ कर रख दिया है। अपनी बेटियों की शादी की तमन्ना मन मे ही लिए वे दोनों हमेशा के लिए दूर चले गए। दरअसल हुआ यह कि इस्पात संयंत्र कर्मी दयाराम कोरी (५६ साल) निवासी खुर्सीपार अपनी दोनों बेटियों की शादी को लेकर तैयारी में जुटे थे। इस बीच कोरोना महामारी ने दस्तक दिया। ड्यूटी आने-जाने के दौरान ना जाने कब, कहां और कैसे वे कोरोना के संक्रमण का शिकार हुए पता ही नही चला। वहीं दूसरी ओर उनकी सेवा में लगे रहने वाली पत्नी भी कोरोना के चपेट में आ गई। उनके घर में पांच बच्चे हैं, जो की पूरी तरह से पिता पर आश्रित हैं। एकाएक कोरोना संक्रमित होने के बाद पहले पिता और फिर मां की मौत हो जाने से बच्चों के पैरों तले जमीन खिसक गई। हसंते खेलते परिवार की खुशियां दस दिनों के भीतर ही मातम में तब्दील हो गई।

यह भी पढ़े, तीन मंजिला इमारत गिरी, मलबे में से शख्स को जिंदा निकाला, रेस्क्यू ऑपरेशन जारी

बेटियों की शादी कराने की थी तमन्ना:

BSP कर्मी दयाराम कोरी अपनी दोनों बेटियों की एक साथ शादी कराने की तैयारी में थे। पत्नी के साथ इसको लेकर उनकी चर्चा लगातार चल रही थी। इसके बाद बेटों की शिक्षा और पैर में खड़ा करने का इरादा था।
लेकिन वे अपने सपनो को पूरा करते उससे पहले ही वे इस दुनिया से रुखसत हो गए।
जब वे कोरोना संक्रमित हुए तो उन्हें 27 मार्च 2021 को पं. जवाहर लाल नेहरू चिकित्सालय एवं अनुसंधान केंद्र, सेक्टर-9 अस्पताल में दाखिल किए। जहां वे 28 मार्च 2021 की सुबह दम तोड़ दिए। वहीं इस खबर को सुन उनकी पत्नी अमरावती की तबियत बिगड़ने लगी जो कि पहले ही संक्रमित हो चुकी थी। 29 मार्च को मां को भी सेक्टर-9 अस्पताल में दाखिल किए। बच्चे इस सदमें से उभर पाते उसके पहले ही उनकी मां
ने तमाम कोशिशों के बाद 6 अप्रेल को दम तोड़ दिया।

पांच बच्चे हो गए यतीम:

सिर से दस दिनों के भीतर पहले पिता और फिर मां का साया उठ जाने से बच्चे यतीम हो गए। तीन बेटे और दो बेटियां अब तक पढ़ाई पूरी कर अपने पैरों में खड़े भी नहीं हुए थे। आगे क्या होगा वे यह सोच भी नही पा रहे, उनजे भविष्य तो जैसे अंधकार में ही डूब गया है।

कोविड डेथ लिस्ट से नाम गायब:

कोविड-19 से संक्रमित जिनकी मौत हुई है, उनको सरकार की ओर से आर्थिक सहायता किया जाना है। जिसके लिए कोविड डेथ लिस्ट तैयार की गई है। जिनका उसमें नाम है उनके नामिनी का आधार और खाता नंबर नगर पालिक निगम, भिलाई के कर्मी लेकर उच्चाधिकारियों को भेज रहे हैं। कोविड डेथ लिस्ट में न तो बीएसपी कर्मी दयाराम कोरी का नाम है और न उनकी पत्नी अमरावती का। इससे उनका परिवार शासन से मिलने वाली मदद से वंचित रह जाएंगे।

Tina Chouhan

Author, Editor, Web content writer, Article writer and Ghost writer

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker