दिल्ली

सुप्रीम कोर्ट ने केरल सरकार को लिया आड़े हाथ, बकरीद को लेकर पांबन्दियों में दी छूट

सुप्रीम कोर्ट ने केरल सरकार को आड़े हाथों लिया है. अदालत ने कहा है कि यह बेहद चौंकाने वाली बात ही है कि राज्य...

सुप्रीम कोर्ट ने केरल सरकार को लिया आड़े हाथ, बकरीद को लेकर पांबन्दियों में दी छूट

नई दिल्ली. बकरीद के दौरान राज्य में कोविड-19 पाबंदियों में ढील देने के लिए सुप्रीम कोर्ट ने केरल सरकार को आड़े हाथों लिया है. अदालत ने कहा है कि यह बेहद चौंकाने वाली बात ही है कि राज्य सरकार ने व्यापारियों की लॉकडाउन में ढील देने की मांग को स्वीकार कर लिया है. इसके अलावा कोर्ट ने चेतावनी दी है कि अगर राज्य सरकार की तरफ से ढील दिए जाने के बाद कोरोना संक्रमण फैलता है, तो इसके खिलाफ उचित कार्रवाई की जाएगी.

बकरीद के दौरान राज्य में कोविड-19 पाबंदियों में ढील देने के लिए सुप्रीम कोर्ट ने केरल सरकार को आड़े हाथों लिया है. अदालत ने कहा है कि यह बेहद चौंकाने वाली बात ही है कि राज्य सरकार ने व्यापारियों की लॉकडाउन में ढील देने की मांग को स्वीकार कर लिया है.

यह भी पढ़े, Eid-ul-Adha 2021:आज पाकिस्तान समेत इन देशों में मनाई जा रही ईद उल अजहा, भारत मे मनाई जाएगी कल

इस मामले में बीकेडी नामबीर ने वकील प्रीति सिंह के माध्यम से याचिका लगाई है। बता दें कि केरल सरकार ने बकरीद पर 18 से 20 जुलाई तक कोरोना नियमों में छूट देने का फैसला किया था। केरल में इस समय कोरोना के मामलों में रिकॉर्ड बढ़ोतरी देखी जा रही है।
बीते 24 घंटे में यहां 13,956 नए मरीजों की पहचान हुई है। रविवार को राज्यों में आए कोरोना केस के मामलों में केरल टॉप पर है। बीते दिन यहां संक्रमण से 81 मरीजों की मौत हुई।

कांवड़ यात्रा पर SC ने UP सरकार को नोटिस दिया था:

14 जुलाई को सुप्रीम कोर्ट ने उत्तर प्रदेश सरकार और केंद्र को नोटिस जारी किया था। कोर्ट ने कांवड़ यात्रा को इजाजत दिए जाने के योगी सरकार के फैसले पर स्वत: संज्ञान लिया था। जस्टिस रोहिंटन एफ नरीमन की अध्यक्षता वाली बेंच ने सुनवाई के दौरान कहा था कि हमने परेशान करने वाली खबर पढ़ी है कि UP सरकार कांवड़ यात्रा को मंजूरी दे रही है। बेंच ने कहा था 25 जुलाई से कांवड़ यात्रा की शुरूआत होनी है। ऐसे में इस अहम मुद्दे पर जल्द सुनवाई जरूरी है। हालांकि, सोमवार को इस मामले को खत्म कर दिया गया है। कोर्ट ने कहा है कि यूपी सरकार ने यात्रा रद्द करने का फैसला लिया है, इसलिए केस खत्म किया जा रहा है।

 

Tina Chouhan

Author, Editor, Web content writer, Article writer and Ghost writer

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker