दिल्लीभारत

Monsoon का इंतज़ार अब होगा खत्म, उत्तर भारत को जल्द मिल सकती है गर्मी से राहत

Monsoon के दिल्ली, हरियाणा और पंजाब सहित उत्तर भारत के कुछ हिस्सों में पहुंचने का अनुमान है। अब अगले 24 घंटे के भीतर यह राष्ट्रीय राजधानी में पहुंच सकता है।

Monsoon का इंतज़ार अब होगा खत्म, उत्तर भारत को जल्द मिल सकती है गर्मी से राहत

नई दिल्ली. उत्तर भारत में शनिवार को भी लोगों को उमस भरी गर्मी का सामना करना पड़ा, जबकि कुछ क्षेत्रों में पूर्वी हवाओं के कारण बारिश हुई। इन पूर्वी हवाओं ने बहुप्रतीक्षित दक्षिण-पश्चिम मॉनसून के आगे बढ़ने के लिए परिस्थितियां अनुकूल बना दी हैं। भारतीय मौसम विज्ञान विभाग (IMD) के अनुसार, अगले 24 घंटे के भीतर दक्षिण-पश्चिम Monsoon के दिल्ली, हरियाणा और पंजाब सहित उत्तर भारत के कुछ हिस्सों में पहुंचने का अनुमान है।

दिल्ली में शनिवार को भी Monsoon ने दस्तक नहीं दी और अब अगले 24 घंटे के भीतर यह राष्ट्रीय राजधानी में पहुंच सकता है। दिल्ली में उमस भरी गर्मी रहने के साथ ही अधिकतम तापमान 39.8 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया जो सामान्य से चार डिग्री अधिक है। मौसम विभाग ने शुक्रवार को कहा था कि राष्ट्रीय राजधानी में मानसून 13 दिनों की देरी के बाद शनिवार को पहुंच जाएगा।

IMD के क्षेत्रीय पूर्वानुमान केंद्र के प्रमुख कुलदीप श्रीवास्तव के मुताबिक, पिछले 15 वर्षों के दौरान यह पहली बार है जब Monson दिल्ली में इतनी देरी से पहुंच रहा है। पंजाब और हरियाणा में शनिवार को भी गर्मी का कहर जारी रहा, जबकि कुछ स्थानों पर बारिश हुई। हरियाणा के नारनौल में अधिकतम तापमान सामान्य से चार डिग्री अधिक 41.2 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। राज्य के अन्य स्थानों में, हिसार में अधिकतम तापमान 41 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया, जबकि रोहतक, गुरुग्राम और भिवानी का अधिकतम तापमान क्रमश: 40.1 डिग्री सेल्सियस, 40.7 डिग्री सेल्सियस और 40.4 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया।

पंजाब और हरियाणा में गर्मी का कहर जारी:

पंजाब और हरियाणा में शनिवार को भी गर्मी का कहर जारी रहा, जबकि कुछ स्थानों पर बारिश हुई। हरियाणा के नारनौल में अधिकतम तापमान सामान्य से चार डिग्री अधिक 41.2 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। राज्य के अन्य स्थानों में, हिसार में अधिकतम तापमान 41 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया, जबकि रोहतक, गुरुग्राम और भिवानी का अधिकतम तापमान क्रमश: 40.1 डिग्री सेल्सियस, 40.7 डिग्री सेल्सियस और 40.4 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। पंजाब के अमृतसर, लुधियाना और पटियाला में अधिकतम तापमान क्रमश: 36.5, 37.1 और 38 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। अमृतसर में 16 मिमी बारिश हुई। जम्मू-कश्मीर के रामबन जिले में भारी बारिश के कारण हुए भूस्खलन से प्रमुख जम्मू-श्रीनगर राष्ट्रीय राजमार्ग बंद हो गया और 500 से अधिक वाहन फंस गए।

यह भी पढ़े, गर्मी व धूप से बचने के लिए करे यह आसान घरेलू उपाय

राजस्थान के कुछ हिस्सों में हल्की से मध्यम दर्जे की बारिश हुई और वहां Monson के आगे बढ़ने के लिए परिस्थितियां अनुकूल हो गई हैं। जयपुर, बूंदी, टोंक और डबोक में क्रमश: 23.4 मिमी, 17.5 मिमी, 2 मिमी और 0.8 मिमी बारिश दर्ज की गई। 43.5 डिग्री सेल्सियस अधिकतम तापमान के साथ बीकानेर राजस्थान का सबसे गर्म स्थान रहा। इसके बाद गंगानगर और पाली में अधिकतम तापमान क्रमश: 43.3 डिग्री सेल्सियस और 43 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया।

10 दिनों के अंतराल के बाद मध्य प्रदेश में Monsoon सक्रिय:

करीब 10 दिनों के अंतराल के बाद मध्य प्रदेश में मानसून सक्रिय हो गया है, जिसके कारण राज्य के कई हिस्सों में हल्की बारिश होने से लोगों को उमस भरी गर्मी से कुछ राहत मिली। आईएमडी भोपाल कार्यालय में वरिष्ठ मौसम विज्ञानी पी के साहा ने कहा कि राज्य में 11 से 16 जुलाई के बीच अच्छी बारिश होने की उम्मीद है। साहा ने कहा, मध्य प्रदेश में मानसून फिर धीरे-धीरे सक्रिय हो रहा है। अरब सागर में दक्षिण-पश्चिमी हवाएं तेज हो रही हैं, जिससे राज्य में आगामी कुछ दिनों तक बारिश होने की उम्मीद है। रविवार को उत्तर-पश्चिम बंगाल की खाड़ी के ऊपर निम्न दबाव का क्षेत्र बनने की संभावना है।

गुना के कुंभराज कस्बे में 72 मिमी बारिश:

इस बीच गुना के कुंभराज कस्बे में 72 मिमी बारिश हुई, जबकि सिंगरौली के सराय इलाके में शनिवार सुबह 8.30 बजे तक 24 घंटे में 66.4 मिमी बारिश दर्ज की गई। उधर, केरल के कन्नूर और कासरगोड जिलों में रविवार को भारी बारिश के लिए चेतावनी जारी की है। मौसम विभाग ने केरल के तटीय इलाकों में मछुआरों के लिए चेतावनी जारी कर उन्हें समुद्र में नहीं जाने की सलाह दी गई।

Tina Chouhan

Author, Editor, Web content writer, Article writer and Ghost writer

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker