दिल्ली

बाइडेन के राष्ट्रपति बनने के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का होगा पहला अमेरिका दौरा, अफगानिस्तान व चीन को लेकर हो सकती है बातचीत

बाइडेन से तीन बार हो चुकी वर्चुअल मुलाकात जो बाइडेन के राष्ट्रपति बनने के बाद अभी तक पीएम मोदी की उनसे फेस टू फेस मुलाकात नहीं हुई है. हालांकि दोनों के बीच तीन बार वर्चुअल समिट में मुलाकात चुकी है.

बाइडेन के राष्ट्रपति बनने के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का होगा पहला अमेरिका दौरा, अफगानिस्तान व चीन को लेकर हो सकती है बातचीत

नई दिल्ली. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के इस महीने यानी सितंबर के आखिरी सप्ताह में अमेरिका दौरे पर जाने की उम्मीद है। सरकार के टॉप सूत्रों की मानें तो प्रधानमंत्री सितंबर के आखिरी सप्ताह में वाशिंगटन डीसी और न्यूयॉर्क का दौरा कर सकते हैं। जो बाइडेन के राष्ट्रपति बनने के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का यह पहला अमेरिका दौरा होगा।

इंडियन एक्सप्रेस ने सूत्रों के हवाले से रिपोर्ट दी है कि फिलहाल प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के कार्यक्रम को अंतिम रूप दिया जा रहा है और अगर अब तक की चर्चा के हिसाब से सबकुछ ठीक रहा तो प्रधानमंत्री मोदी 22 से 27 सितंबर के बीच अमेरिका के दौरे पर रहेंगे।

यह भी पढ़े, विधानसभा से लाल किले तक जाने वाली सुरंग अब खुलेगी आम जनता के लिए

बाइडेन से तीन बार हो चुकी वर्चुअल मुलाकात
जो बाइडेन के राष्ट्रपति बनने के बाद अभी तक पीएम मोदी की उनसे फेस टू फेस मुलाकात नहीं हुई है. हालांकि दोनों के बीच तीन बार वर्चुअल समिट में मुलाकात चुकी है. जानकारी के मुताबिक मार्च में क्वाड समिट, अप्रैल में क्लाइमेट चेंज समिट और इस साल जून में जी-7 समिट के दौरान ये दोनों नेता वर्चुअली मिल चुके हैं. जी-7 की समिट में प्रधानमंत्री का ब्रिटेन दौरा तय था लेकिन कोरोना की दूसरी लहर के कारण दौरा रद्द कर दिया गया.

अफगानिस्तान के हालात के बाद दौरा महत्वपूर्ण
अफगानिस्तान में जिस तरह तेजी से हालात बदल रहे हैं उसके बाद पीएम मोदी का यह दौरा काफी महत्वपूर्ण होगा. जो बाइडेन से मुलाकात के साथ ही अमेरिका के शीर्ष अधिकारियों के साथ भी बैठक हो सकती है. अपने अमेरिका दौरे पर पीएम मोदी अफगानिस्तान और चीन का मुद्दा भी उठा सकते हैं.

इससे पहले आखिरी बार सितंबर 2019 में ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अमेरिका दौर पर गए थे, जब तत्कालीन राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने हाउडी मोदी कार्यक्रम को संबोधित किया था. उसी कार्यक्रम में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने संबोधन में ‘अबकी बार ट्रंप सरकार’ का नारा दिया था, जो चुनाव में काम नहीं आया है.

Tina Chouhan

Author, Editor, Web content writer, Article writer and Ghost writer