दिल्ली

आदित्यनाथ ने मथुरा में मांस व शराब की बिक्री पर लगाई रोक, लिया बड़ा फैसला

आदित्यनाथ ने मथुरा में मांस व मदीरा की बिक्री पर रोक लगाने का ऐलान कर दिया है.अभी तक मंदिरों और धर्मस्थलों से 100 मीटर की दूरी पर

आदित्यनाथ ने मथुरा में मांस व शराब की बिक्री पर लगाई रोक, लिया बड़ा फैसला

मथुरा. श्रीकृष्ण जन्माष्टमी के अवसर पर उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मथुरा में मांस व मदीरा की बिक्री पर रोक लगाने का ऐलान कर दिया है.अभी तक मंदिरों और धर्मस्थलों से 100 मीटर की दूरी पर शराब दुकानें और मांस की दुकानें खोलने पर रोक है।

सीएम की इस घोषणा के बाद अब मथुरा-वृंदावन सहित प्रदेश के अन्य तीर्थ स्थलों पर मांस और मद्य की बिक्री रोकने के प्रावधान किए जाएंगे।मुख्यमंत्री ने कहा कि मथुरा की सांस्कृतिक और आध्यात्मिक महिमा को पुनर्जीवित करने के लिए शराब और मांस के व्यापार में लगे हो दूध बेचना शुरू कर सकते हैं. बता दें कि इससे पहले सीएम योगी ने श्रीकृष्ण जन्मस्थली पहुंचकर ठाकुर बांके बिहार लाल और राधारानी के दर्शन कर पूजा अर्चना की. इसके बाद भगवान श्रीकृष्ण के उन्होंने दर्शन किए.

यह भी पढ़े, खिलाड़ियों को प्रोत्साहित करने के लिए गहलोत सरकार दे रही यह सुविधाएं

सोमवार को सीएम ने कहा 2017 में मथुरा को नगर निगम बनाया गया था। सात तीर्थ घोषित किए थे। अब इंतजाम होगा मथुरा वृंदावन में मद्य मांस की बिक्री पर पाबंदी लगेगी। किसी को उजाड़े बिना सुनियोजित विकास किया जाए। काशी, प्रयागराज, अयोध्या,चित्रकूट, मथुरा, वृंदावन और बरसाना पहले से ही पवित्र तीर्थस्थल घोषित हैं। राज्य सरकार के धर्मार्थ कार्य विभाग के अनुसार तीर्थ स्थलों पर मांस-मदिरा का न तो क्रय विक्रय हो सकेगा और न ही इनका सेवन किया जा सकेगा, ऐसा करने पर इसे अपराध माना जाता है।

सीएम ने कहा कि उनके इस फैसले से प्रभावित होने वाले लोगों का व्यवस्थित पुनर्वास किया जाएगा. इसके लिए राज्य सरकार द्वारा अधिकारियों को आदेश दिए जा चुके हैं. बता दें कि बीते कल योगी आदित्यनाथ ने श्रीकृष्ण जन्मस्थान पहुंचकर भगवान के दर्शन किए.

मुख्यमंत्री ने बीते कल कहा कि भगवान से यही कामना करता हूं कि इस कोरोना रूपी राक्षस का अंत कर दुनिया को वे त्रास से मुक्ति दिलाएं. कोरोना के कारण लोगों के कई अपनों को खोया है. देश के प्रधानमंत्री के निर्देशन में कोरोना से लड़ने का कार्य किया है.

लेकिन कई बार महामारी के दौरान संसाधन अक्सर कम पड़ जाते हैं. बता दें कि मथुरा में डेंगू की चपेट में 6-7 बच्चों के आने बाद व कई बच्चों की मौत के कारण मौत होने को लेकर योगी आदित्यनाथ ने इन परिवारों के साथ सहानुभूति जताई है.

मथुरा जिले का वृंदावन क्षेत्र भगवान श्रीकृष्ण की जन्मस्थली एवं भगवान श्रीकृष्ण व उनके ज्येष्ठ भाई बलराम की क्रीड़ास्थली के रूप में विश्व विख्यात है। साथ ही, बरसाना राधारानी की जन्मस्थली और क्रीड़ास्थली है। इन पवित्र स्थानों पर देश-विदेश से लाखों की संख्या में श्रद्धालु दर्शन करने एवं पुण्य लाभ के लिए आते हैं।

इन तीर्थस्थलों की पौराणिक महत्ता एवं पर्यटन की दृष्टि से इनके अत्यधिक महत्व को देखते हुए इन्हें पवित्र तीर्थस्थल घोषित करते हुए यह निर्णय लिया गया है। गौरतलब है कि वृंदावन में डेढ़ करोड़ तो बरसाना में 60 लाख श्रद्धालु हर साल पहुंचते है। वृंदावन में 5 हजार से भी ज्यादा मंदिर हैं

Tina Chouhan

Author, Editor, Web content writer, Article writer and Ghost writer