जॉब & एजुकेशन

दिल्ली: कोडिंग एवं सॉफ्टवेयर प्रोग्रामिंग में पहला आवासीय कोर्स

नई दिल्ली, 12 अप्रैल ()। दिल्ली कौशल एवं उद्यमिता विश्वविद्यालय ने सॉफ्टवेयर प्रोग्रामिंग में पहला आवासीय कोर्स शुरू किया है। नवगुरुकुल के सहयोग के साथ यह 20 महीने का आवासीय सॉफ्टवेयर प्रोग्रामिंग कोर्स है। दिल्ली सरकार के मुताबिक कोडिंग एवं प्रोग्रामिंग में करियर बनाने का यह एक प्रयास है। महत्वपूर्ण बात यह है कि यह तकनीकी कोर्स केवल लड़कियों एवं ट्रांस महिलाओं के लिए ही है।

दिल्ली सरकार का कहना है कि यह कोर्स पितृसत्तात्मक मानदंडों को चुनौती दे रहा है। इसका उद्देश्य छात्राओं को हैंड्स -ऑन अनुभव प्राप्त कराना एवं रुचि रखने वाली लड़कियों के लिए इस कोर्स को आकांक्षी बनाने का मौका देना है।

यूनिवर्सिटी की वीसी ने कहा कि हमारी शिक्षा ही एकमात्र ऐसी चीज है जो हमारे साथ रहती है। शिक्षा वह है जो हमारे व्यक्तित्व का निर्माण करती है एवं हमें अपने व्यक्तिगत एवं व्यावसायिक जीवन में आगे बढ़ने में मदद करती है। इस समय आपने एक पुरुष-प्रधान उद्योग के एक कोर्स में शामिल होने के लिए एक विकल्प लिया है। आपको मेरी सलाह यह है कि आप यह याद रखें कि केवल आपका कौशल ही आपकी काबिलियत को सुनिक्षित करेगा।

वीसी ने कहा कि नवगुरुकुल के साथ डीएसईयू आपको कौशल को सीखने एवं बढ़ाने में मदद करेगा, आपको आवश्यक सभी सहायता प्रदान करेगा। जिससे आपकी शिक्षा को सुविधाजनक बनाएगा, लेकिन यह आपका प्रयास है जो मायने रखेगा। सॉफ्टवेयर डेवलपमेंट एवं कोडिंग सीखने के लिए आपने जो चुनाव किया है, उसे याद रखें एवं इसे अपने जीवन का सबसे अच्छा विकल्प बनाने के लिए अपना सर्वश्रेष्ठ दें।

नवगुरुल के संस्थापक अभिषेक गुप्ता ने छात्राओं को संबोधित करते हुए कहा, बड़े होकर, मैंने शिक्षा में विशेषाधिकार देखा एवं यह कैसे किसी व्यक्ति के विकास एवं उनके सीखने के अवसरों को प्रभावित करता है। नवगुरुल की शुरूआत करते हुए हमारा लक्ष्य शिक्षा को आकांक्षी बनाना रहा है। इसी ²ष्टि से, हम युवा लड़कियों एवं ट्रांस महिलाओं के लिए एक उन्नत डिप्लोमा कोर्स शुरू करने का अवसर पाकर आभारी हैं। इन युवा छात्राओं को प्रासंगिक कोर्स के साथ छात्राओं द्वारा संचालित एक कार्यक्रम प्रदान करने का यह हमारा संयुक्त प्रयास है एवं सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि कोर्स पूरा करने के बाद छात्राओं को रोजगार के अवसर प्रदान करेगा।

यह कोर्स डीएसईयू में नवगुरुकुल फाउंडेशन फॉर सोशल वेलफेयर, जो एक नॉन-प्रॉफिट संगठन के साथ पेश किया जा रहा है। यह सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग में कम आय वाले एवं हासिए पर रहे समुदायों के छात्रों के लिए आवासीय पाठ्यक्रम चलाता है। यह वित्त पोषित आवासीय कोर्स छात्राओं एवं ट्रांस महिलाओं को 6 महीने की प्रशिक्षण अवधि के माध्यम से तकनीकी दुनिया में सीखने और बढ़ने का अवसर प्रदान करेगा। इस कोर्स में डीएसईयू के द्वारका कैंपस में 84 छात्राओं ने प्रवेश लिया है।

जीसीबी/एएनएम