जॉब & एजुकेशन

एडहॉक शिक्षकों के लिए अध्यादेश लाया जाए, सरकार पर ऐसा दबाव डालेगा डीटीए

नई दिल्ली, 24 नवंबर ()। दिल्ली विश्वविद्यालय में 26 नवंबर को शिक्षक संघ डूटा के चुनाव होने जा रहे हैं। विश्वविद्यालय के हजारों शिक्षक इन चुनावों में वोटर हैं। वहीं विभिन्न राजनीतिक विचारधाराओं के समर्थक शिक्षक इन चुनावों में अध्यक्ष व अन्य पदों पर चुनाव लड़ रहे हैं। इस बार आम आदमी पार्टी के समर्थक शिक्षक भी मैदान में हैं।

आप की टीचर विंग दिल्ली टीचर्स एसोसिएशन (डीटीए) के लिए आप पार्टी के दिल्ली संयोजक व केबिनेट मंत्री गोपाल राय ने अपने आवास पर घोषणा पत्र जारी किया। उन्होंने अपना चुनावी एजेंडा घोषित कर शिक्षकों से 26 नवम्बर को डीटीए के डूटा में उम्मीदवार डॉ. हंसराज सुमन ( बैलेट नम्बर 5 ) के पक्ष में वोट करने की अपील की है ।

घोषणा पत्र को कैबिनेट मंत्री गोपाल राय ने डूटा एग्जीक्यूटिव उम्मीदवार डॉ. हंसराज सुमन ,प्रोफेसर नरेंद्र पाण्डेय , प्रोफेसर मनोज कुमार सिंह , हरीश बंसल डॉ. रितु , डॉ. राजेश कुमार , डॉ.संदीप सिंह का नाम जारी करते हुए बताया कि दिल्ली सरकार से संबद्ध वित्त पोषित 28 कॉलेजों में पढ़ाने वाले एडहॉक शिक्षकों का समायोजन और स्थायीकरण कराना उनकी पहली प्राथमिकता है। वहीं डीटीए का कहना है कि वे दिल्ली सरकार पर दबाव डालेंगे की एडहॉक शिक्षकों को स्थायी करने के लिए अध्यादेश लाया जाए।

उन्होंने कहा कि एडहॉक शिक्षकों के समायोजन व स्थायीकरण पर दिल्ली सरकार साथ है। गोपाल राय ने कहा कि हमने पहले भी सरकार के अंतर्गत आने वाले कॉलेजों की गवनिर्ंग बॉडी के चेयरपर्सन को निर्देश दिए थे। डीयू के वाइस चांसलर व कॉलेजों के प्रिंसिपलों को पत्र भी लिखकर इसे लागू करने को कहा था। उन्होंने कहा कि वे इस मुद्दे पर डीटीए के साथ उपमुख्यमंत्री से मिलकर यह कार्य पूरा कराने की कोशिश करेंगे।

गोपाल राय ने बताया कि डॉ. हंसराज सुमन श्री अरबिंदो कॉलेज में एसोसिएट प्रोफेसर हैं। डीयू की सर्वोच्च संस्था एकेडेमिक काउंसिल में दो बार सदस्य रह चुके हैं, साथ ही विश्वविद्यालय की अपॉइंटमेंट्स कमेटी ,एडमिशन कमेटी , मेडिकल कमेटी , सलेब्स कमेटी , एससी एसटी ग्रीवेंस कमेटी , फंक्शन कमेटी , प्रमोशन कमेटी ,टास्क फोर्स कमेटी के अलावा बहुत सी कमेटियों में रहकर शिक्षकों ,छात्रों व कर्मचारियों के हित में कार्य किए हैं।

इसके अलावा बेस्ट टीचर्स अवार्ड और दिल्ली सरकार का डॉ. अम्बेडकर अवार्ड भी मिल चुका है। ऐसे उम्मीदवार डूटा में जाएंगे तो शिक्षकों के मुद्दों को हल कराएंगे।

डॉ.सुमन ने बताया है कि उनके घोषणा पत्र में एडहॉक महिला शिक्षिकाओं को छह महीने का मातृत्व अवकाश दिलाना , एडहॉक शिक्षकों को मेडिकल कार्ड दिलाना , एडहॉक शिक्षकों की पूरी एडहॉक सर्विस काउंट कराना ,पीडब्ल्यूडी टीचर्स के लिए स्पेशल ट्वायलेट, रेम्प, लिफ्ट व विलचेयर उपलब्ध कराना , ब्लाइंड टीचर का रीडर अलाउंस सांतवें वेतन आयोग के अनुसार निर्धारित कराना, लाइब्रेरियन के पदों को भरवाना ,सहायक प्रोफेसर फिजिकल एजुकेशन को रोस्टर में डालना आदि मुद्दे उनके एजेंडे में शामिल है।

जीसीबी/एएनएम

Niharika Times We would like to show you notifications for the latest news and updates.
Dismiss
Allow Notifications