जॉब & एजुकेशन

पीएम मोदी के संग परीक्षा पे चर्चा के लिए शिक्षक, अभिभावक भी करा रहे हैं पंजीकरण

cff22330b33da4a6ff87bf59e6b5536c नई दिल्ली, 14 जनवरी ()। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने एक अनूठा संवादात्मक कार्यक्रम परीक्षा पे चर्चा की परिकल्पना की, जिसमें देश भर के और विदेशों से भी छात्र, अभिभावक, शिक्षक उनके साथ बातचीत करते हैं।

पीएम मोदी इस दौरान जीवन को एक उत्सव के रूप में मनाने के उद्देश्य से परीक्षाओं की वजह से पैदा होने वाले तनाव को दूर करने के बारे में चर्चा करते हैं। यह कार्यक्रम पिछले चार वर्षों से शिक्षा मंत्रालय के स्कूली शिक्षा एवं साक्षरता विभाग द्वारा आयोजित किया जा रहा है।

केंद्रीय शिक्षा मंत्री धर्मेन्द्र प्रधान ने कहा, इस वर्ष परीक्षा पे चर्चा नामक इस कार्यक्रम का प्रारूप 2021 की तरह ही ऑनलाइन मोड में रखने का प्रस्ताव है। प्रतिभागियों का चयन करने के लिए 28 दिसंबर से 20 जनवरी 2022 तक पर विभिन्न विषयों पर एक ऑनलाइन रचनात्मक लेखन प्रतियोगिता आयोजित की जा रही है। चयनित विजेताओं द्वारा पूछे गए प्रश्नों को परीक्षा पे चर्चा कार्यक्रम में शामिल किया जाएगा।

कक्षा 9 से 12वीं तक के स्कूली छात्रों, शिक्षकों और अभिभावकों का चयन एक ऑनलाइन प्रतियोगिता के माध्यम से किया जाएगा। निम्नलिखित सूचीबद्ध विषयों पर 28 दिसंबर 2021 से लेकर 20 जनवरी 2022 तक पर पंजीकरण जारी है।

ऑनलाइन रचनात्मक लेखन प्रतियोगिता के लिए छात्रों को यह विषय दिए गए हैं।

1) कोविड -19 के दौरान परीक्षा संबंधी तनाव के प्रबंधन की रणनीतियां

2) आजादी का अमृत महोत्सव

3) आत्मनिर्भर भारत के लिए आत्मनिर्भर स्कूल

4) स्वच्छ भारत, हरित भारत

5) कक्षाओं में डिजिटल सहयोग

6) पर्यावरण संरक्षण और जलवायु परिवर्तन अनुकूलन

वहीं शिक्षकों के लिए विषय इस प्रकार हैं-

नया भारत के लिए राष्ट्रीय शिक्षा नीति (एनईपी)

कोविड-19 महामारी: अवसर एवं चुनौतियां

अभिभावकों के लिए विषय-

बेटी पढ़ाओ, देश बढ़ाओ

लोकल टू ग्लोबल – वोकल फॉर लोकल

सीखने के प्रति छात्रों की आजीवन ललक

माईगव पर प्रतियोगिताओं के माध्यम से चुने गए लगभग 2050 प्रतिभागियों को राष्ट्रीय शैक्षिक अनुसंधान और प्रशिक्षण परिषद (एनसीईआरटी) के निदेशक की ओर से प्रशंसा-पत्र और प्रधानमंत्री द्वारा लिखित हिंदी और अंग्रेजी में परीक्षा योद्धाओं (एग्जाम वारियर्स) की पुस्तक से लैस एक विशेष परीक्षा पे चर्चा किट प्रदान की जाएगी। इस कार्यक्रम में देश भर के छात्रों, शिक्षकों और अभिभावकों की उत्साहपूर्ण भागीदारी होती है।

जीसीबी/आरजेएस

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें निहारिका टाइम्स हिंदी न्यूज़ APP अपने मोबाइल पर।
Niharika Times Android Hindi News APP