पर्यावरण / वन्यजीव

दिल्ली की वायु गुणवत्ता फिर बेहद खराब श्रेणी में पहुंची

नई दिल्ली, 26 नवंबर (आईएएनएस)। सिस्टम ऑफ एयर क्वालिटी एंड वेदर फोरकास्टिंग एंड रिसर्च (सफर) के अनुमानों के मुताबिक हवा में पीएम 2.5 और पीएम 10 प्रदूषकों के संतोषजनक से मध्यम स्तर की रिकॉडिर्ंग के एक दिन बाद, दिल्ली-एनसीआर ने शुक्रवार को समग्र वायु गुणवत्ता सूचकांक (एक्यूआई) 380 दर्ज किया, जिसमें दोनों प्रदूषक फिर से बहुत खराब श्रेणी में आ गए।

दिल्ली के लिए वायु गुणवत्ता प्रारंभिक चेतावनी प्रणाली (पृथ्वी विज्ञान मंत्रालय) द्वारा जारी बुलेटिन के अनुसार दिल्ली-एनसीटी पर हवा की गुणवत्ता 26 नवंबर को बहुत खराब श्रेणी में रहने की संभावना है। रात के दौरान ज्यादातर शांत या धीमी हवाएं प्रभावी फैलाव के लिए प्रतिकूल होती हैं। वायु गुणवत्ता में मामूली सुधार होने की संभावना है, लेकिन 27 नवंबर और 28 नवंबर को बहुत खराब श्रेणी में रहने की संभावना है।

हवा की गुणवत्ता बेहद खराब श्रेणी में रहने की संभावना है। 27 नवंबर से 30 नवंबर तक धीरे-धीरे सुधार होने की संभावना है और पीएम2.5 प्रमुख प्रदूषक होगा।

प्रमुख सतही हवा दिल्ली के दक्षिणपूर्व-पूर्वी दिशा से 6 किमी प्रति घंटे की हवा की गति के साथ आने की संभावना है, मुख्य रूप से 27 नवंबर को सुबह साफ आसमान और कोहरा रहेगा। प्रमुख सतही हवा अलग-अलग दिशाओं से आने की संभावना है। दिल्ली में 6 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से हवाएं चल रही हैं। 28 नवंबर को मुख्य रूप से साफ आसमान और सुबह हल्का कोहरा रहेगा। 29 और 30 नवंबर के दौरान हवाएं अपेक्षाकृत तेज होने की संभावना है।

भारत मौसम विज्ञान विभाग ने शुक्रवार की सुबह धुंध के साथ मुख्य रूप से साफ आसमान की भविष्यवाणी की।

दिन का अधिकतम तापमान 28 डिग्री सेल्सियस और न्यूनतम 11 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया है।

गुरुवार को अधिकतम तापमान 27.8 डिग्री सेल्सियस और न्यूनतम 11 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया गया।

सुबह 8.30 बजे सापेक्षिक आद्र्रता 95 प्रतिशत दर्ज की गई।

–आईएएनएस

Sabal Singh Bhati

Sabal Singh Bhati is the Chief Editor at Niharika Times. He tweets @sabalbhati Views are personal.