गुजरात

गुजरात के मुख्‍यमंत्री विजय रुपाणी ने अपने पद से इस्‍तीफे का बताया कारण

गुजरात के मुख्‍यमंत्री विजय रुपाणी ने शनिवार को अपने पद से इस्‍तीफा दे दिया है. किसी को अंदाजा भी नहीं था कि रुपाणी अचानक इस्‍तीफा दे देंगे. उन्‍होंने इस्‍तीफा क्‍यों दिया है

गुजरात के मुख्‍यमंत्री विजय रुपाणी ने अपने पद से इस्‍तीफे का कारण बताया

गुजरात के मुख्‍यमंत्री विजय रुपाणी ने शनिवार को अपने पद से इस्‍तीफा दे दिया है. किसी को अंदाजा भी नहीं था कि रुपाणी अचानक इस्‍तीफा दे देंगे. उन्‍होंने इस्‍तीफा क्‍यों दिया है इसको लेकर अब अटकलबाजियां तेज हो गई हैं. ऐसा कहा जा रहा है कि बीएल संतोष ने शुक्रवार को विजय रुपाणी से मुलाकात की थी और उन्‍हें इस्‍तीफा देने के लिए कहा था. इसके एक दिन पहले गुरुवार को देश के गृह मंत्री अमित शाह के साथ भी विजय रुपाणी की मुलाकात हुई थी.गुजरात के सीएम विजय रुपाणी ने राज्यपाल से मिलकर अपना इस्तीफा सौंप दिया है

इस्तीफा देने के बाद विजय रुपाणी ने लिखित बयान पढ़ते हुए कहा, ‘बीजेपी ने मुझे गुजरात के मुख्यमंत्री जैसी अहम जिम्मेदारी दी. मैंने इस दायित्व को अच्छी तरह से निभाते हुए अपने कार्यकाल के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ विशेष मार्गदर्शन मिलता रहा है. प्रधानमंत्री मोदी के मार्गदर्शन में गुजरात समग्र विकास तथा सर्वजन कल्याण के पथ आगे बढ़ते हुए नए आयामों को छुआ है.’
विजय रुपाणी ने पीसी में भूपेंद्र यादव की मौजूदगी में कहा, ‘गुजरात के विकास की यात्रा में गत 5 वर्षों में मुझे योगदान करने का जो अवसर मिला उसके लिए मैं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का बहुत आभारी हूं, आभार प्रकट करता हूं.’ उन्होंने कहा, ‘मेरा मानना है कि अब गुजरात के विकास की यह यात्रा प्रधानमंत्री (नरेंद्र मोदी) के नेतृत्व में एक नए उत्साह व नई ऊर्जा के साथ नए नेतृत्व में आगे बढ़नी चाहिए. यह ध्यान रखकर मैं गुजरात के मुख्यमंत्री पद के दायित्व से त्यागपत्र दे रहा हूं.’

यह भी पढ़े :हीरालाल सैनी व महिला कॉन्स्टेबल की 5 साल से है दोस्ती, फिर इस तरह बढ़ी नजदीकियां

मेरा मानना है कि अब गुजरात के विकास की यह यात्रा प्रधानमंत्री (नरेंद्र मोदी) के नेतृत्व में एक नए उत्साह व नई उर्जा के साथ नए नेतृत्व में आगे बढ़नी चाहिए. यह ध्यान रखकर मैं गुजरात के मुख्यमंत्री पद के दायित्व से त्यागपत्र दे रहा हूं.सीएम पद से इस्तीफा देने के बाद विजय रुपाणी ने कहा कि अब उन्हें जो भी जिम्मेदारी मिलेगी वह उसको पूरा करेंगे. उन्होंने कहा कि सीएम रहते हुए उन्हें गुजरात की जनता का भरपूर समर्थन मिला. गुजरात के विकास में योगदान करने का भी उन्हें मौका मिला. उन्होंने कहा कि गुजरात विकास के पथ पर लगातार आगे बढ़ रहा है.

किसी भी सांसद के लिए मुख्‍यमंत्री बनना आसान नहीं

गुजरात में किसी भी सांसद के लिए राज्‍य का मुख्‍यमंत्री बनना आसान नहीं होगा. क्योंकि जब विधानसभा का चुनाव सिर्फ एक साल दूर है तो ऐसे में किसी सांसद के लिए राज्य के सदन में चुना जाना मुश्किल होगा. उत्‍तराखंड संकट के बाद बीजेपी कोशिश करेगी कि गुजरात में ऐसी स्थिति पैदा ना हो. हालांकि ऐसा भी हो सकता है क‍ि अगले 6 महीने में गुजरात में विधानसभा का चुनाव करा दिए जाएं.

जो भी जवाबदारी मिलेगी करूंगा’

इस्तीफा देने के बाद विजय रुपाणी ने कहा, ‘संगठन और विचारधारा आधारित दल होने के नाते भारतीय जनता पार्टी की यह परंपरा है कि समय के साथ-साथ कार्यकर्ताओं के दायित्व भी बदलते रहे हैं. यह हमारी पार्टी की विशेषता है कि जो दायित्व पार्टी द्वारा दिया जाता है, पूरे मनोयोग से पार्टी कार्यकर्ता उसका निर्वहन करते हैं. मुख्यमंत्री के रूप में मिले दायित्व का निर्वहन करने बाद अब मैंने मुख्यमंत्री पद से त्यागपत्र देकर पार्टी के संगठन में नई ऊर्जा के साथ काम करने की इच्छा जताई है. अब मुझे पार्टी द्वारा जो भी जवाबदारी दी जाएगी उसका मैं संपूर्ण दायित्व और नए ऊर्जा के साथ प्रधानमंत्री के नेतृत्व एवं माननीय राष्ट्रीय अध्यक्ष के मार्गदर्शन में काम करूंगा.’

उन्होंने कहा, ‘मैं गुजरात की जनता के प्रति भी आभार व्यक्त करता हूं कि विगत पांच वर्षों में हुए उपचुनाव हों अथवा स्थानीय निकाय के चुनाव हों, पार्टी और सरकार को गुजरात की जनता का अभूतपूर्व समर्थन, सहयोग और विश्वास मिला है. गुजरात की जनता का विश्वास भारतीय जनता पार्टी की ताकत भी बनी है और मेरे लिए लगातार जनहित में काम करते रहने की उर्जा भी रहा है.’

Tina Chouhan

Author, Editor, Web content writer, Article writer and Ghost writer