हद्दाद माइया ने जाबौर को अपसेट किया, ओपन युग में फ्रेंच ओपन के सेमीफाइनल में प्रवेश करने वाली पहली ब्राजीलियाई महिला बनीं

Jaswant singh
2 Min Read

पेरिस, 7 जून ()। बीट्रिज हद्दाद माइया बुधवार को नंबर 7 सीड ट्यूनीशियाई ओन्स जाबौर को 3-6, 7-6(5), 6-1 से हराकर ओपन युग में रौलां गैरो के सेमीफाइनल में पहुंचने वाली पहली ब्राजीलियाई महिला बन गईं।

1968 (यूएस ओपन) में मारिया ब्यूनो के बाद माइया ग्रैंड स्लैम सेमीफाइनल में पहुंचने वाली पहली ब्राजीलियाई महिला भी बनीं। ब्यूनो ने ओपन युग से पहले पांच मौकों पर फ्रेंच ओपन के सेमीफाइनल में जगह बनाई, जिसमें 1964 के फाइनल तक का सफर भी शामिल था।

जाबौर, जो 1997 में अमांडा कोएट्जर के बाद से रौलां -गैरो में अंतिम आठ में पहुंचने वाली पहली अफ्रीकी महिला हैं, ने शुरूआती सेट को 45 मिनट में 6-3 से अपने नाम कर लिया।

हालांकि, माइया ने वापसी की और दूसरे सेट का टाईब्रेक 7-6(5) छीनते हुए मैच को बराबर कर दिया। उसने अपने लचीलेपन के साथ शानदार प्रदर्शन जारी रखा और ऐतिहासिक जीत को हासिल करने के लिए तीसरा सेट 6-1 से जीत लिया।

अपसेट भरी जीत के बाद, 27 वर्षीय इगा स्वीयाटेक या कोको गॉफ का इंतजार कर रही हैं, जो कोर्ट फिलिप-चैटरियर पर अगला मैच खेलने उतरेंगी।

इससे पहले, ब्राजीलियाई खिलाड़ी पिछले 11 ग्रैंड स्लैम मुख्य ड्रॉ में दूसरे दौर से आगे नहीं बढ़ पायी थी और न ही उसने पिछले दो मुकाबलों में जाबौर से एक सेट जीता था।

हद्दाद माइया की जाबौर पर जीत उसके करियर की नौवीं शीर्ष 10 जीत है, और ग्रैंड स्लैम मंच पर पहली जीत है। वह फरवरी में अबू धाबी के बाद 2023 के अपने दूसरे टूर-लेवल सेमीफाइनल में पहुंच गई है।

आरआर

Share This Article