हाईकोर्ट ने यूएनएचसीआर कार्यालय के बाहर भीड़ की शिकायत पर दिल्ली पुलिस से स्थिति रिपोर्ट मांगी

Sabal Singh Bhati
3 Min Read

नई दिल्ली, 5 जनवरी ()। दक्षिण दिल्ली के पॉश इलाके में शरणार्थियों के लिए संयुक्त राष्ट्र उच्चायुक्त (यूएनएचसीआर) के कार्यालय के बाहर अक्सर विदेशियों के जमावड़े के संबंध में दिल्ली हाईकोर्ट ने बुधवार को वसंत विहार वेलफेयर एसोसिएशन की एक याचिका पर शहर की पुलिस से स्थिति रिपोर्ट मांगी है।

एसोसिएशन ने आरोप लगाया कि यूएनएचसीआर कार्यालय के बाहर पूरे रोड पर भारी भीड़ जमा होने से रोड जाम हो जाता है, जिससे स्थानीय निवासियों को आने-जाने में परेशानियों का सामना करना पड़ता है। एसोसिएशन के तर्क के जवाब में, न्यायमूर्ति प्रतिभा एम सिंह की पीठ ने शहर की पुलिस को नोटिस जारी किया और कहा कि यह सुनिश्चित किया जाएगा कि रोड की स्पष्ट स्थिति, जैसा कि एक पहली याचिका पर पारित आदेश में दर्ज है, बनाए रखा जाए।

प्रतिभा एम. सिंह ने आगे कहा कि दिल्ली पुलिस को नोटिस जारी करें। अदालत ने मामले की अगली सुनवाई 9 फरवरी को सूचीबद्ध की है। याचिकाकर्ता के वकील के अनुसार, एसोसिएशन ने पहले इसी समस्या को लेकर एक अलग याचिका दायर की थी और उस मुकदमे को सितंबर 2021 में यूएनएचसीआर कार्यालयों के सामने सड़क साफ होने के बाद खारिज कर दिया गया था। हालांकि, अक्टूबर में भीड़ फिर से शुरू हो गई। जब अदालत को सूचित किया गया कि अब यूएनएचसीआर कार्यालयों के बाहर प्रदर्शनकारी नहीं हैं, इसके बाद याचिका वापस ले ली गई थी।

दक्षिण पश्चिम के पुलिस उपायुक्त ने अपनी स्थिति रिपोर्ट में कहा था कि अफगान शरणार्थियों के विरोध को यूएनएचसीआर कार्यालय से तितर-बितर कर दिया गया था। दिल्ली सरकार और पुलिस को पहले एचसी द्वारा यह सुनिश्चित करने के लिए निर्देशित किया गया था कि शरणार्थी का दर्जा प्राप्त करने के लिए यूएनएचसीआर कार्यालय के बाहर विरोध करने वाले अफगान नागरिकों की संख्या को उचित रूप से कम किया जाए और प्रदर्शनकारियों को कोविड-19 प्रोटोकॉल का सख्ती से पालन करने के लिए कहा जाए।

देश विदेश की तमाम बड़ी खबरों के लिए निहारिका टाइम्स को फॉलो करें। हमें फेसबुक पर लाइक करें और ट्विटर पर फॉलो करें। ताजा खबरों के लिए हमेशा निहारिका टाइम्स पर जाएं।

Share This Article