Health and Fitness

इम्यूनिटी बढ़ाने में जामुन है काफी कारगर, देता है यह स्वास्थ्य लाभ

इम्युनिटी बढ़ाने के लिए जामुन का सेवन करना चाहिए, इसके सेवन से अनगिनत स्वास्थ्य लाभ होते हैं जैसे ये पेट दर्द, डायबिटीज, गठिया, पेचिस, पाचन संबंधी कई अन्य समस्याओं को ठीक करने में भी फायदेमंद है।

इम्यूनिटी बढ़ाने में जामुन है काफी कारगर, देता है यह स्वास्थ्य लाभ

जामुन गर्मियों में खाए जाने वाला एक स्वादिष्ट फल है. ये मई और जून के मौसम में मिलता है. जामुन अपने मीठे स्वाद के साथ-साथ कई औषधीय गुणों से भरपूर है। जामुन खाने के अनगिनत स्वास्थ्य लाभ होते हैं. ये पेट दर्द, डायबिटीज, गठिया, पेचिस, पाचन संबंधी कई अन्य समस्याओं को ठीक करने में भी फायदेमंद है।

यह भी पढ़े,खाली पेट आवला जूस का सेवन हो सकता है नुकसानदेह, जानिए कैसे

खून की कमी:

जामुन में मौजूद आयरन खून को शुद्ध करने में मदद करता है। विटामिन सी और आयरन से भरपूर जामुन शरीर में हीमोग्लोबिन की मात्रा को बढ़ाता है। इससे शरीर में खून की कमी पूरी होती है और आप स्वस्थ रहते हैं।

त्वचा की समस्या:

जामुन में एस्ट्रिंजेंट गुण होता है, जो त्वचा को स्वस्थ रखने में मदद करता है. इसके सेवन से त्वचा पर होने वाली कील-मुंहासों की समस्या कम हो जाती है। चिकनी त्वचा वाले लोग इसका सेवन जरूर करे। इससे त्वचा फ्रेश रहती है।

मोटापा:

जामुन में फाइबर की मात्रा अधिक और कैलोरी कम होती है। इसमें विटामिन सी, आयरन, फास्फोरस, मैग्नीशियम और फोलिक एसिड भी पाया जाता है। शरीर को स्वस्थ रखने में मदद करता है. इसके सेवन से पेट लंबे समय तक भरा हुआ रहता है, जिससे आपको बार-बार भूख का एहसास नहीं होता है. इसका नियमित सेवन बढ़ते वजन को कम करने में मदद करता है।

इम्यूनिटी बूस्ट:

जामुन में विटामिन, मिनरल, एंटी ऑक्सीडेंट्स होते हैं. ये इम्यून सिस्टम को मजबूत करके शरीर का स्टैमिना बढ़ाते हैं।

दाँतो और मसूड़ों:

जामुन की पत्तियों में एंटी बैक्टीरियल गुण होते हैं. इसका सेवन मसूड़ों से निकलने वाले खून को और संक्रमण को फैलने से रोकता है. जामुन की पत्तियों को सुखाकर उसका टूथ पाउडर की तरह इस्तेमाल कर सकते है। इसमे एस्ट्रिजेंट के गुण होए है। जो मुह के छाले ठीक करता है। मुह के छालों के लिए जामुन की छाल का काढ़ा का इस्तेमाल करने से फायदा होता है।

दिल:

पोटेशियम से भरपूर जामुन दिल के लिए बहुत उपयोगी होता है। सौ ग्राम जामुन में पचपन मिलीग्राम पोटेशियम होता है। हाई ब्लड प्रेशर, दिल से जुड़ी बीमारी और हार्ट स्ट्रोक जैसी समस्याओं के खतरे को दूर रखने में ये फल फायदेमंद होता है. जामुन धमनियों को स्वस्थ रखता है और इसे सख्त होने से रोकता भी है।

इंफेक्शन:

जामुन में एंटी बैक्टीरियल, एंटी इंफेक्टिव और एंटी मलेरियल गुण होते हैं. जामुन में मैलिक एसिड, टैनिन, गैलिक एसिड, ऑक्सैलिक एसिड बेट्यूलिक एसिड भी होते हैं. इसके सेवन से शरीर कॉमन इंफेक्शन से दूर रहता है।

डायबिटीज:

डायबिटीज में ये फल का सेवन करने से लाभ मिलता है। ये बार बार पेशाब आना और प्यास लगने वाले डायबिटीज के लक्षणों को रोकता है। इसमें लो ग्लाइसेमिक इंडेक्स होता है, जो ब्लड शुगर लेवल को सामान्य रखता है. जामुन के पेड़ की छाल और पत्तियां डायबिटीज के इलाज के लिए उपयोग की जाती हैं।

आंखे:

जामुन हीमोग्लोबिन के लेवल में सुधार करता है और इसमें मौजूद आयरन रक्त को शुद्ध करने वाले एजेंट के रूप में कार्य करता है. ये त्वचा के लिए फायदेमंद तो होता ही है। आंखों की सेहत के लिए भी लाभकारी है। जामुन में कई तरह के मिनरल विटामिन सी और ए पाए जाते है।

Tina Chouhan

Author, Editor, Web content writer, Article writer and Ghost writer

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker