Health and Fitness

नियमित रूप से प्राणायाम करें व बढ़ाये शरीर की ऊर्जा, जाने क्या है व्यायाम करने के फायदे

नियमित रूप से प्राणायाम करने से शरीर को ऊर्जा मिलती है, वहीं शरीर के कई रोग भी दूर होते है तथा शारिरिक बीमारियां दूर रहती है।

नियमित रूप से प्राणायाम करें व बढ़ाये शरीर की ऊर्जा, जाने क्या है व्यायाम करने के फायदे

नियमित रूप से प्राणायाम करने से शरीर को ऊर्जा मिलती है, वहीं शरीर के कई रोग भी दूर होते है तथा शारिरिक बीमारियां दूर रहती है। व्यायाम खुले स्थान पर करना बहुत जरूरी है। इससे आप अपने अंदर ताजा हवा भर पाएंगे व बीमारियां आपसे दूर रहेंगी।
चलिए अब जानते है की व्यायाम करने से कौन कौनसे फायदे होते है…

• प्राणायाम– आपकी सांसों को नियंत्रित करने का योग अभ्यास है. प्राणायाम प्रक्रिया में सांस लेने और छोड़ने के साथ-साथ शरीर में सांस को रोकना शामिल है. सांस को रोककर रखने से शरीर की ऊर्जा को बढ़ने में मदद मिलती है।

• भस्त्रिका प्राणायाम– करते दौरान आप गहरी सांस लेते हैं. ये आपकी नाड़ियों, नाक और साइनस के लिए फायदेमंद है. ये आपके शरीर को ऊर्जा देता है. अगर आप सूस्त महसूस करें तो आप इस प्राणायाम को कर सकते हैं. ये आपके फेफड़ों को मजबूत करता है. अस्थमा को ठीक करने में मदद करता है. सामान्य सर्दी का इलाज करने के लिए ये प्राणायाम फायदेमंद है।

• अनुलोम विलोम– श्वास लेने के पैटर्न के माध्यम से दाएं और बाएं नाड़ियों को साफ और संतुलित किया जाता है. ये गठिया और साइनसाइटिस को कम करता है. ये एलर्जी और अस्थमा को ठीक करने में मदद करता है। यदि आप इसे नियमित रूप से करते है तो काफी फायदेमंद हो सकता है।

यह भी पढ़े, गुड़ का सुबह सेवन करने से फेफडे होंगे हेल्दी, शरीर को अंदर से ताकत देगे ये पांच जबदस्त फायदे

•बाह्य प्राणायाम– ये सांस लेने, छोड़ने और सांस को रोके रखने की तीन चरणों वाली प्रक्रिया है. ये बह्या प्राणायाम हर्निया और एसिडिटी को ठीक करता है. ये एकाग्रता बढ़ाता है।

• भ्रामरी प्राणायाम– तनाव दूर करने में मदद करता है. सांस लेने की ये तकनीक नसों को शांत करती है. ये प्राणायाम माइग्रेन को कम करने में मदद करता है. क्रोध और चिंता को भी कम करता है. ये ब्लड प्रेशर को कंट्रोल करने और अल्जाइमर रोग के लिए फायदेमंद है।

• कपालभाति प्राणायाम– इसका नियमित अभ्यास आपके लिए बहुत फायदेमंद है. ये आपके शरीर से जहरीली हवा को बाहर निकालता है. कपालभाति आपके लीवर और किडनी की कार्यप्रणाली में सुधार करती है. ये मस्तिष्क को शांत करती है. सांस लेने की तकनीक आपकी याददाश्त और एकाग्रता शक्ति में सुधार करती है।

Tina Chouhan

Author, Editor, Web content writer, Article writer and Ghost writer

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker