Health and Fitness

बारिश के मौसम में घर को कैसे रखे सुरक्षित, फॉलो करें यह टिप्स

बारिश के मौसम में अक्सर दीवारों पर फफूंदी लगती है जिससे बहुत बदबू आने लगती है। फफूंदी से बचने के लिए आप दीवार पर ब्लीच करवा सकते है। ब्लीच एक तरह से क्लीनिंग एजेन्ट का काम करता है

बारिश के मौसम में घर को कैसे रखे सुरक्षित, फॉलो करें यह टिप्स

बारिश: घर को तरो ताजा और स्वस्थ रखने के लिए घर मे हवा और रोशनी का होना बेहद जरूरी है। इसलिए कुछ देर खिड़कियों को खुला छोड़ दे। ताकि घर मे प्राकृतिक रोशनी औऱ ताजी हवा आये और

फेंड्स आज हम बात करेंगे बारिश में घर को सुरक्षित रखने की । वैसे तो बारिश सबको पसंद होती है छोटे हो या बड़े, बूढे हो या जवान। बारिश के आने का हर कोई इंतजार करता है। क्योंकि बारिश से ही हमे गर्मी से निजात मिलती है। खास कर उन लोगो को जिनके घरो में एसी या कूलर न हो। पर आप यह भी जानते होंगे कि बारिश के कारण घरो को काफी नुकसान भी होता है आइये जानते है उनके उपाय।

बारिश में घर की बहुत सी चीजो को नुकसान होता है जैसे — घर की दीवारें, छत, दरवाजे, खिड़किया, फर्नीचर, ताले, अंदरूनी वातावरण, लीकेज आदि ।

दीवारे:
ऐसे मौसम में अक्सर दीवारों पर फफूंदी लगती है जिससे बहुत बदबू आने लगती है। फफूंदी से बचने के लिए आप दीवार पर ब्लीच करवा सकते है। ब्लीच एक तरह से क्लीनिंग एजेन्ट का काम करता है और कीटनाशक भी होता है जिससे दुबारा फफूंदी नही लगती ।

फर्नीचर:
अधिकतर घरो में लकड़ी का सामान होता है जैसे सोफा , अलमीरा, कुर्सी , टेबल और भी बहुत वस्तुए होती है जो की हवा में नमी के कारण खराब हो जाती है। ऐसे मौसम में फर्नीचर को दरवाजे और खिड़की से दूर ही रखे। हवा की नमी से अपने फर्नीचर को बचाने के लिए अलमीरा और बाकी सामानों में नीम की पत्तियां या लोंग या फिर कपूर की गोलियां रखे। इस मौसम में लकड़ी की री डिजाइन का काम न कराये।

यह भी पढ़ें, मानसून के उस बार 11 जून तक आने की उम्मीद, अच्छी बारिश के आसार

दरवाजे और खिड़किया:
आपके घर मे यदि दरवाजे ओर खिड़किया लकड़ी की है तो उनके किनारो पर तेल लगा सकते है या सैंडपेपर का भी इस्तेमाल कर सकते है। क्योंकि बारिश से सबसे ज्यादा नुकसान खिड़की ओर दरवाजो को होता है। इसलिए इनकी रंगाई पुताई नियमित रूप करे। या आप पेंट भी करवा सकते है और खिडकी दरवाजो पर यूपीएससी की फ्रेम्स भी लगवा सकते है इस फ्रेम्स पर बारिश का असर कम होता है पानी और हवा को रोक देता है। ओर यह भी ध्यान रखें की खिड़की ओर दरवाजे के कब्जे ठीक तरह से फिक्स है या नही क्योंकि तेज़ हवा और बारिश को रोकने में अहम होते है।

अंदरूनी वातावरण और लीकेज:
प्राकृतिक हवा और रोशनी की कमी के घर के वातावरण को काफी उदासीन बना देती है रिसाव घर की खूबसूरती को बर्बाद कर देता है घर को तरो ताजा और स्वस्थ रखने के लिए घर मे हवा और रोशनी का होना बेहद जरूरी है। इसलिए कुछ देर खिड़कियों को खुला छोड़ दे। ताकि घर मे प्राकृतिक रोशनी औऱ ताजी हवा आये और फर्नीचर पर डार्क पेंट करवाये जैसे लाल ,पीला, संतरी ओर आर्टिफिशियल लाइट्स लगाए ताकि घर स्वस्थ ताजा और खुशनुमा लगे।

बारिश से घर की छतों और दीवारों में लीकेज की समस्या जरूर होती है। समय रहते इन लीकेज और दरारों की वजह से घर को बारिश से नुकसान पहुँच सकता है इसलिए घर की छत और दीवार को वॉटरप्रूफ कोटिंग करवाये या पेंटिंग भी करवा सकते है। उससे दीवारों में फफूंदी भी नही लगेगी और लीकेज भी नही होगा।

 

 

Tina Chouhan

Author, Editor, Web content writer, Article writer and Ghost writer

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker