स्वास्थ्य

इस्कॉन बेंगलुरु में लाखों भक्तों ने वैकुंठ एकादशी समारोह में ऑनलाइन भाग लिया

बेंगलुरु, 13 जनवरी ()। यहां के इस्कॉन मंदिर में गुरुवार को आयोजित श्री वैकुंठ एकादशी समारोह में 5 लाख से अधिक लोगों ने ऑनलाइन भाग लिया।

कोविड-19 मामलों में वृद्धि के कारण इस्कॉन मंदिर को जनता के लिए बंद कर दिया गया था। उत्सवों को इसकी आधिकारिक वेबसाइट (डब्ल्यूूडब्ल्यूडब्ल्यू डॉट इस्कॉन बेंगलोर डॉट ऑर्ग) और सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर लाइव स्ट्रीम किया गया।

इसे 45 यूट्यूब चैनलों पर भी लाइव स्ट्रीम किया गया। समारोह को संयुक्त राज्य अमेरिका, ऑस्ट्रेलिया, इटली, सऊदी अरब और रूस सहित लगभग 30 देशों के 5 लाख से अधिक लोगों ने देखा। मंदिर को 75,000 से अधिक मुफ्त पूजा पंजीकरण भी प्राप्त हुए।

श्री श्रीनिवास गोविंदा की सुप्रभात सेवा के साथ तड़के 3 बजे से उत्सव शुरू हुआ। इसके बाद एक विस्तृत पंचामृत अभिषेक के साथ पुजारियों ने वैदिक मंत्रोच्चार किया।

भगवान को हर्बल पानी, फलों के रस और सुगंधित फूलों से औपचारिक स्नान भी कराया गया। अभिषेक के बाद भगवान की कलात्मक दीपों से भव्य आरती की गई। श्री श्रीनिवास गोविंदा एक विशेष राजा गोपाल अलंकार में आभूषणों से सुशोभित थे।

मंदिर के देवताओं को राजगोपुर के चारों ओर एक जुलूस में ले जाया गया और वैकुंठ द्वार पर भव्य रूप से बैठाया गया। मंदिर के उत्तरी प्रवेशद्वार पर एक विशाल स्वर्णद्वार स्थापित किया गया जो वैकुंठ के द्वार का प्रतिनिधित्व करता है।

कल्याणोत्सव में श्रीकृष्ण का रुक्मिणी और सत्यभामा के साथ पवित्र विवाह समारोह भी आयोजित किया गया था। लक्षार्चना सेवा भी की गई, जिसमें भक्त सुबह से रात तक लगातार कृष्ण के 108 नामों का जाप करते हैं। इस अवसर पर बच्चों ने श्री श्रीनिवास गोविंदा के सामने भगवान के एक लाख नामों का जाप करके अपनी अद्वितीय भक्ति दिखाने के लिए लक्षार्चना सेवा प्रस्तुत की।

एसजीके/एएनएम

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें निहारिका टाइम्स हिंदी न्यूज़ APP अपने मोबाइल पर।
Niharika Times Android Hindi News APP