हिमाचल प्रदेश

हिमाचल प्रदेश: जाको राखे साइयां मार सके ना कोई, खाई पर लटकी रही HRTC बस लेकिन सभी सुरक्षित, बड़ा हादसा होने से टला

हिमाचल प्रदेश के मंडी जिले में जहां पर एक साल 24 लोगों की जान जाते जाते बच गई। मिली जानकारी के अनुसार यहां स्थित सुंदरनगर के बरोहकड़ी में बुधवार देररात हिमाचल पथ परिवहन निगम

हिमाचल प्रदेश: जाको राखे साइयां मार सके ना कोई, खाई पर लटकी रही HRTC बस लेकिन सभी सुरक्षित, बड़ा हादसा होने से टला

मंडी. एक कहावत तो सुनी ही होगी आपने कि जाको राखे साइयां मार सके ना कोई। यही बात बीती रात सच साबित हुई हिमाचल प्रदेश के मंडी जिले में जहां पर एक साल 24 लोगों की जान जाते जाते बच गई। मिली जानकारी के अनुसार यहां स्थित सुंदरनगर के बरोहकड़ी में बुधवार देररात हिमाचल पथ परिवहन निगम (एचआरटीसी) की बस अनियंत्रित होकर सड़क से बाहर लटक गई।

यह भी पढ़े, विधानसभा के सत्र में होगा हंगामा, इन मुद्दों पर विपक्ष घेरेगा सरकार

बताया गया कि जहां से बस लटकी थी उसके आगे गहरी खाई थी। ऐसे में अगर यह बस आगे को चली जाती तो बड़ा हादसा पेश आ सकता था। मिली जानकारी के अनुसार जिस वक्त यह हादसा पेश आया, उस समय बस में कुल 24 यात्री सवार थे, जो कि हादसे के वक्त पूरी तरह से सहम गए थे।

भगवान् ने बचा लिया, अन्यथा आज उनकी जान चली गई होती

इन यात्रियों का कहना था कि उन्हें भगवान् ने बचा लिया, अन्यथा आज उनकी जान चली गई होती। बतौर रिपोर्ट्स, इस हादसे में बस का अगला हिस्सा पूरी तरह से आगे की ओर लटक गया था, जिसके बाद बस में सवार यात्रियों को किसी तरह बस से बाहर निकाल लिया गया। सुंदरनगर क्षेत्रीय प्रबंधक विनोद कुमार ने बताया कि चालक की मुस्तैदी से बड़ा हादसा होने से टल गया है।

एचआरटीसी बस केलांग से रिकांगपिओ जा रही थी और बरोहकड़ी के पास अनियंत्रित होकर हवा में लटक गई.
हादसे के कारणों का पता नहीं चल पाया है. सभी यात्रिंयों को सुरक्षित निकाल लिया गया है.यदि बस सड़क से नीचे गिरती तो जानी नुकसान हो सकता था.

उधर, केलांग डिपो और करसोग एचआरटीसी के क्षेत्रीय प्रबंधक सुभाष रानोत्रा ने कहा कि बस में सवार 15 यात्री सुरक्षित हैं, जिन्हें धर्मपुर से रिकांगपिओ जा रही बस में रिकांगपिओ रवाना किया जा रहा है। घटनास्थल पर इंस्पेक्टर भेजा गया है और बस को गुरूवार को निकाला जाएगा।

Tina Chouhan

Author, Editor, Web content writer, Article writer and Ghost writer