भारत

अजान के खिलाफ अभियान चलाने वाले आतंकवादी हैं : कर्नाटक कांग्रेस नेता

बंगलुरु, 9 मई ()। कर्नाटक विधान परिषद में विपक्ष के नेता बी.के. हरिप्रसाद ने सोमवार को उस समय विवाद खड़ा कर दिया जब उन्होंने कहा कि जो लोग अजान के खिलाफ प्रचार कर रहे हैं वे आतंकवादी हैं।

हरिप्रसाद ने कहा, जो लोग दो धर्मों के बीच जहरीले बीज बोने और समाज में अशांति पैदा कर रहे हैं, वे आतंकवादी हैं। उन्हें यूएपीए अधिनियम के प्रावधानों के तहत तुरंत गिरफ्तार किया जाना चाहिए।

उन्होंने भाजपा सरकार पर अपना बचाव करने और सरकार की विफलता को कवर करने के लिए असामाजिक तत्वों का इस्तेमाल करने को लेकर निशाना साधा।

उन्होंने दोहराया, वे संघ परिवार के हाथों में ऑक्टोपस की तरह हैं। यह उनके माध्यम से अपना काम कर रहा है। उन्हें आतंकवादी तत्वों के रूप में माना जाना चाहिए और यूएपीए अधिनियम के तहत मामला दर्ज किया जाना चाहिए।

हिंदू कार्यकर्ताओं ने हरिप्रसाद के बयान पर तीखी प्रतिक्रिया व्यक्त की है। श्री राम सेना के सिद्धलिंग स्वामीजी ने कहा कि कांग्रेस से और क्या उम्मीद की जा सकती है।

उन्होंने कहा कि अजान के खिलाफ आंदोलन और अभियान अदालत के आदेश और संविधान को कायम रखने के लिए चलाया गया है।

इस बीच, श्री राम सेना के संस्थापक प्रमोद मुतालिक ने कहा कि अगर मुस्लिम समुदाय सुप्रीम कोर्ट के दिशानिर्देशों का पालन नहीं करता है, तो उन्हें हिंदुओं से सामाजिक, आर्थिक बहिष्कार का सामना करना पड़ेगा।

मुतालिक ने सुबह 5 बजे मैसूर जिले के एक मंदिर में हिंदू भक्ति प्रार्थना का उद्घाटन किया। पूरे राज्य में अजान के खिलाफ मंदिरों में हनुमान चालीसा बजाया गया।

इधर बेंगलुरु के एक मंदिर में हनुमान चालीसा का पाठ करने वाले हिंदू कार्यकर्ताओं को गिरफ्तार कर लिया गया है। इस मुद्दे पर सांप्रदायिक झड़पें होने के अंदेशा के चलते पुलिस ने पूरे राज्य में सुरक्षा कड़ी कर दी है।

मुथालिक ने घोषणा की है कि हिंदू कार्यकर्ता आने वाले दिनों में मंदिरों में प्रार्थना अभियान तेज करेंगे। उन्होंने अजान के खिलाफ कार्रवाई करने में सरकार की लाचारी पर सवाल उठाया।

एसकेपी