भारत

कनाडा में कार्तिक का हत्यारा गिरफ्तार, परिवार बोला, आरोपी हत्यारा नहीं आतंकवादी है

नई दिल्ली, 13 अप्रैल ()। कनाडा के टोरंटो में गाजियाबाद निवासी कार्तिक वासुदेव की गोलीबारी में मौत के बाद पुलिस ने संदिग्ध आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस ने संदिग्ध की पहचान रिचर्ड जोनाथन एडविन के रूप में की है, हालांकि कार्तिक के परिवार का कहना है कि वह कोई मामूली हत्यारा नहीं, बल्कि एक आतंकवादी है।

इसके अलावा परिवार के लोगों का कहना है, आखिर हमारे बच्चे को क्यों मारा इसका जवाब तो अब तक नहीं मिला है। पुलिस यह महत्वपूर्ण बात क्यों नहीं बता रही? भारत सरकार को कनाडा में सरकार से जांच के लिए दबाब बनाना चाहिए।

जानकारी के अनुसार, शनिवार तक कार्तिक का शव भारत लाया जा सकता है जिसकी प्रक्रिया पूरी की जा रही है। कार्तिक के परिवार के सदस्यों को वीजा भी दे दिया गया है।

कार्तिक वासुदेव कनाडा के टोरंटो में ग्लोबल मैनेजमेंट की पढ़ाई करने गया था, साथ ही उसने हाल ही में एक रेस्टोरेंट में नौकरी करनी शुरू भी की थी। कार्तिक दो भाइयों में सबसे बड़ा था। कार्तिक के पिता गुरुग्राम में नौकरी करते हैं।

कार्तिक के पिता जितेश वासुदेव ने को बताया कि, इतनी संतुष्टि है कि जिसने इस घटना को अंजाम दिया, वह गिरफ्तार हो गया है। मेरे बेटे के अलावा इस हत्यारे ने एक और व्यक्ति की जान ली थी और उसके घर से पुलिस ने भारी मात्रा में हथियार भी बरामद किए हैं। पुलिस का कहना है कि ये एक रैंडम क्राइम है, लेकिन ऐसा नहीं है। यह एक टारगेटेड हत्या है। यह किसी नफरत के कारण ऐसा हुआ या किसी भेदभाव के कारण हुआ है, लेकिन यह एक रैंडम क्राइम नहीं है।

हमें अभी तक हत्या करने का कारण नहीं बताया गया है, भारत सरकार की तरफ से हमें कोई फोन नहीं आया है जांच को लेकर, एक फोन कुछ दिनों पहले आया था शव को लेकर, लेकिन उसके बाद किसी से संपर्क नहीं हो सका है। हमें अभी तक नहीं पता हमारी सरकार कितना जांच को लेकर दबाब बना रही है।

कार्तिक की मां पूजा वासुदेव ने बताया कि, अच्छी बात है, हत्यारा पकड़ा गया लेकिन उसने तीन दिन में दो लोगों की हत्या की है। पुलिस से जवाब चाहिए कि क्यों मारा है और मुझे न्याय चाहिए। उसके पास से भारी संख्या में हथियार बरामद हुए हैं तो वह एक आम आरोपी नहीं वह एक आतंकवादी है। उसको सख्त से सख्त सजा दी जाए।

दरअसल कार्तिक जनवरी में पढ़ाई करने के लिए कनाडा गया था उसके परिवार ने बताया कि जैसे ही वह कनाडा समय के अनुसार करीब शाम को 5 बजे मेट्रो स्टेशन से बाहर निकला तभी किसी ने उस पर गोली चला दी। इसके बाद उनके पास टोरंटो पुलिस का फोन आया जिसमें उन्होंने बताया कि कार्तिक अब इस दुनिया में नहीं रहा।

एमएसके/एसकेपी