भारतराजस्थान

गोविंद डोटासरा ने नई गाइडलाइन बताई, कल से खुलेंगे स्कूल

गोविंद डोटासरा ने कहा कि बच्चे पीने का पानी घर से लायेंगे. स्कूलों में उन्हें हाथ धोने के लिए साबुन उपलब्ध कराया जायेगा. हर बच्चा घर से मास्क पहन कर आयेगा

गोविंद डोटासरा ने नई गाइडलाइन बताई, कल से खुलेंगे स्कूल

जयपुर. कोरोना (Corona) की दूसरी लहर का प्रकोप कम होने के साथ ही 1 सितम्बर से कक्षा 9 से 12 वीं तक की स्कूल खुलने जा रहे हैं. पूरे 4 महीने 18 दिनों के बाद स्कूल खोलने को लेकर प्रदेश के करीब 21 हजार सरकारी और निजी स्कूलों की तैयारियां अब पूरी हो चुकी है तो वहीं बच्चों को कोरोना से बचाने और ऑफलाइन पढ़ाई को फिर से पटरी पर लाने के लिए प्रदेश के स्कूल पूरी तरह से तैयार नजर आ रहे हैं. इस दौरान स्कूलों में सोशल डिस्टेसिंग का पूरा ध्यान रखे जाने के निर्देश दिए गए हैं. स्कूल में सभी बच्चों के लिए मास्क और जो शिक्षक स्कूल में आएंगे उनके लिए दोनों वैक्सीन की डोज लगी होना अनिवार्य है.

स्कूल खोले जाने के निर्देशों के साथ ही शिक्षा विभाग ने स्कूलों के लिए अलग से गाइडलाइंस जारी की है. शिक्षा राज्य मंत्री गोविंद डोटासरा ने कहा कि बच्चे पीने का पानी घर से लायेंगे. स्कूलों में उन्हें हाथ धोने के लिए साबुन उपलब्ध कराया जायेगा. हर बच्चा घर से मास्क पहन कर आयेगा. अगर कोई छात्र मास्क पहनकर नहीं आता है तो स्कूल में उन्हें मास्क उपलब्ध कराये जाएंगे.

दोनों डोज लगी होने पर ही शिक्षक आयेंगे स्कूल:

शिक्षा राज्य मंत्री गोविंद डोटासरा ने कहा कि लगभग सभी शिक्षकों को कोरेाना की वैक्सीन लग चुकी है. जिन शिक्षकों को दोनों डोज लग चुकी है, वे ही स्कूल आयेंगे ताकि उन्हें किसी भी तरह की दिक्कतों का सामना नहीं करना पड़े. कक्षाओं में सोशल डिस्टेंसिंग की पूरी पालना होगी. एक क्लासरूम में पन्द्रह से बीस बच्चे ही बैठेंगे. सिटिंग अरेंजमेंट में कोताही बर्दाश्त नहीं की जायेगी.

सरकार ने तीस फीसदी सिलेबस कम किया:

डोटासरा ने कहा कि हर साल जून के आखिर में स्कूल खुल जाते हैं. इस साल कोरोना के कारण स्कूल सितंबर महीने में खुल रहे हैं, इसलिए सरकार ने तीस फीसदी पाठयक्रम कम कर दिया है. शिक्षा विभाग के आदेश कल तक स्कूलों में पहुंच जायेंगे. उन्होंने कहा कि हमारी कोशिश बच्चों के सर्वांगीण विकास की है. बच्चों का ठीक से मूल्यांकन किया जाये, ताकि उन्हें अच्छा स्कोर करने में मदद मिले.

तीसरी लहर की आशंका पर रहेंगे सतर्क:

डोटासरा ने कहा कि फिलहाल प्रदेश में तीसरी लहर की आशंका नहीं दिख रही. पर हमारी तैयारी पूरी है. अगर तीसरी वेव आती है, तो बच्चों को उससे बचाने के लिए सरकार पूरी तरह सावधान है. बच्चों की लगातार टेस्टिंग की जायेगी. हर महीने समीक्षा होगी और जरूरत पड़ने पर हर संभव कदम उठाये जायेंगे.

छोटे बच्चों के स्कूल खोलने सरकार को केंद्र की गाइडलाइन का इंतजार:

गोविंद डोटासरा ने कहा कि प्री प्राइमरी से लेकर कक्षा आठ तक के स्कूल केंद्र की गाइडलाइंस के बाद ही खुलेंगे. हम इसका इंतजार कर रहे हैं. सरकार बच्चों के स्वास्थ्य के प्रति सजग और सतर्क है. बच्चों की जिंदगी भी सुरक्षित रहे और उनकी पढाई भी चलती रहे, इसकी कोशिश राजस्थान की सरकार ने की है

Tina Chouhan

Author, Editor, Web content writer, Article writer and Ghost writer