दिल्लीभारत

WHO- जल्दबाजी में हटाया प्रतिबंध तो भारत को हो सकता है भारी नुकसान

WHO-तेजी से फैल सकता है यह वैरिएंट

WHO की तरफ से भारत को चेतावनी.

नई दिल्ली. कोरोना की दूसरी लहर को लगातार दो महीने तक झेलने के बाद कोरोना कर्फ्यू धीरे धीरे हर राज्यों से हट रहा है।

वहीं कहीं अनलॉक की प्रक्रिया शुरू हो गयी है।

ऐसे में WHO ने डेल्टा वेरियंट के बारे में बताते हुए कहा कि चिंता जाहिर करते हुए कहा

कि दूसरी लहर को धीमा पड़ता देख भारत मे प्रतिबन्ध हटाया जाता है,

तो इसका उन्हें भारी नुकसान उठाना पड़ सकता है।

WHO के चीफ टेड्रॉस अधानोम गेब्रयासस (Tedros Adhanom Ghebreyesus) कहा कि भारत मे डेल्टा संक्रमण के अलावा अन्य की संक्रमण बढ़ रहे है।

यह भी पढ़ें, पुणे की रसायन सयंत्र में लगी भीषण आग, 17 लोग जिंदा जले

इस तरह जल्दी प्रतिबंध हटाना खतरनाक साबित हो सकता है।

एक ओर जहां भारत के कुछ राज्यों से प्रतिबन्ध हट रहा है वहीं कई राज्यो में अबतक लॉक डाउन की ही स्थिति बनी है।

डेल्टा स्ट्रेन :-

कोविड का यह स्ट्रेन भारत मे सबसे पहले पाया गया।

इसी वेरियंट के दूसरे 2 स्ट्रेन्स के बारे में बताते हुए WHO ने कहा है की फिलहाल चिंता की कोई बात नही है।

क्योंकि वायरस का B.1.617 वैरिएंट ट्रिपल म्यूटेंट वैरिएंट है। यह तीन लिनीएज (वंश) में बटा हुआ है।

अमेरिका के WHO ने पिछले महीने इस स्ट्रेन को VOC घोषित किया था। यानी वेरियंट ऑफ कन्सर्न।

तेजी से फैल सकता है यह वैरिएंट- WHO

WHO (विश्व स्वास्थ्य संगठन) ने कहा है

कि कोरोना के इन स्वरूपों (बी.1.617.1 और बी.1.617.2)को कप्पा व डेल्टा नाम से जाना जाएगा। जो कि ग्रीक भाषा से लिया गया है।

इन नामो का उपयोग विमर्श व सरलीकरण करने के लिए किया जाएगा, और इसका कारण नामों पर लगे कलंक को धोना है।

Tina Chouhan

Author, Editor, Web content writer, Article writer and Ghost writer

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker