भारत

जियोना चाना: 76 साल की उम्र में अलविदा कह गए दुनिया के सबसे बड़ी फैमिली के मुखिया, थीं 38 पत्नियां व 89 बच्चे

जिओना चाना का परिवार 100 कमरों वाले चार मंजिला मकान में रहता है। यह आत्मनिर्भर है। अधिकांश सदस्य किसी ना किसी व्यापार में लगे हुए हैं।

जियोना चाना: 76 साल की उम्र में अलविदा कह गए दुनिया के सबसे बड़ी फैमिली के मुखिया, थीं 38 पत्नियां व 39 बच्चे

मिजोरम. दुनिया के सबसे बड़े परिवार के मुखिया जिओना चाना का रव‍िवार को मिजोरम के बकटावंग तलंगनुम गांव में निधन हो गया।
उनके पर‍िवार में कुल 38 पत्नियां, 89 बच्चे और 33 पोते-पोतियां और कई परपोते पोतियां हैं। जिओना चाना का निधन 76 साल की उम्र में हो गया है
मुख्यमंत्री जोरमथांगा ने ट्वीट करके ये जानकारी दी उन्होंने ट्वीट करके बताया कि
‘मिजोरम और बकटावंग तलंगनुम में उनका गांव उनके परिवार के कारण राज्य में एक प्रमुख पर्यटक आकर्षण बन गया है।’
चाना का परिवार 4 मंजिला मकान में रहता है, इसका नाम छौन थर रन (न्यू जनरेशन होम) है।

यह भी पढ़ें, रजिया सुल्तान बनी बिहार की पहली मुस्लिम महिला डीएसपी

इस परिवार के बारे में बताया जाता है कि चाना की सबसे बड़ी पत्नी घर से सभी सदस्यों के काम का बंटवारा करती हैं।

जियोना चाना: 76 साल की उम्र में अलविदा कह गए दुनिया के सबसे बड़ी फैमिली के मुखिया, थीं 38 पत्नियां व 39 बच्चे
जियोना चाना: 76 साल की उम्र में अलविदा कह गए दुनिया के सबसे बड़ी फैमिली के मुखिया, थीं 38 पत्नियां व 39 बच्चे

जिओना चाना का परिवार 100 कमरों वाले चार मंजिला मकान में रहता है। यह आत्मनिर्भर है। अधिकांश सदस्य किसी ना किसी व्यापार में लगे हुए हैं। उन्होंने आधिकारिक रेकॉर्ड में, राज्य में कांग्रेस सरकार की गरीब-समर्थक नई भूमि उपयोग नीति के तहत योजनाओं का सबसे अच्छा उपयोग किया है। दरअसल उनके परिवार में करीब 200 लोग हैं।
एक बड़े डाइनिंग हॉल में 50 टेबलों पर खाना परोसा जाता है। चाना की पत्नियां खाना बनाती हैं। बेटियां घर के दूसरे काम देखती हैं। साफ-सफाई की जिम्मेदारी बहुएं संभालती हैं।

बहरहाल, आपको बता दें कि इनके घर मे एक दिन में 45 किलो से ज्यादा चावल, 30-40 मुर्गे, 25 किलो दाल, दर्जनों अंडे, 60 किलो सब्जियों की ज़रूरत होती है. इसके अलावा इस परिवार में लगभग 20 किलो फल की भी हर रोज़ खपत होती है।

इलाके की सियासत में भी चाना परिवार का खासा दबदबा है. एक साथ एक ही परिवार में इतने सारे वोट होने की वजह से तमाम नेता और इलाके की राजनीतिक पार्टियां जियोना चाना को अच्छा खासा महत्व देती हैं क्योंकि स्थानीय चुनाव में इस परिवार का झुकाव जिस पार्टी की तरफ होता है उसे ढेरों वोट मिलना पक्का है।

गिनीज बुक आफ वर्ल्ड रिकार्ड में दर्ज़ इस परिवार के सदस्य अपने आप में पूरा गांव हैं. बात करें तो सुनने वालों की कमी नहीं, मैच खेलने जाएं तो देखने वालों की कमी नहीं और एक साथ बैठ जाएं तो अपने आप में मेला और त्यौहार हो जाए।

Tina Chouhan

Author, Editor, Web content writer, Article writer and Ghost writer

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker