भारत

दो से अधिक बच्चे वाले पेरेंट्स की मुश्किलें बढ़ी, यूपी में सरकार की तरफ से आ रहा यह कानून

दो बच्चे से अधिक वाले माता-पिता की मुश्किलें बढ़ने वाली हैं। क्योंकि यूपी सरकार जल्द ही जनसंख्या नियंत्रण कानून ला सकती है। राज्य विधि आयोग ने इसके लिए मसौदा तैयार करना शुरू कर दिया है।

दो से अधिक बच्चे वाले पेरेंट्स की मुश्किलें बढ़ी, यूपी में सरकार की तरफ से आ रहा यह कानून

लखनऊ. उत्तर प्रदेश की योगी सरकार ‘हम दो हमारे दो’, ‘बच्चे दो ही अच्छे’ की सोच रखने वाले अभिभावकों को जिंदगी की राह आसान बनाने जा रही है। जनसंख्या के लिहाज से देश के सबसे बड़े सूबे में दो बच्चे से अधिक वाले माता-पिता की मुश्किलें बढ़ने वाली हैं। क्योंकि यूपी सरकार जल्द ही जनसंख्या नियंत्रण कानून ला सकती है। राज्य विधि आयोग ने इसके लिए मसौदा तैयार करना शुरू कर दिया है। यूपी विधि आयोग राजस्थान और मध्य प्रदेश समेत कुछ अन्य राज्यों में लागू कानूनों के साथ सामाजिक परिस्थितियों व अन्य बिंदुओं पर अध्ययन कर रहा है। आयोग जल्द ही अपना प्रतिवेदन तैयार कर सरकार को सौंपेगा।
आदित्यनाथ मित्तल ने कहा कि जनसंख्या बढ़ने से अस्पताल, अनाज और बेरोजगारी जैसी समस्याएं बढ़ती हैं। इसलिए जरूरी है कि इस समस्या पर ध्यान दिया जाए। उन्होंने यह भी कहा कि हम किसी धर्म विशेष के खिलाफ नहीं हैं, लेकिन हम चाहते हैं कि जनसंख्या नियंत्रण में मदद करने वालों को योजनाओं का लाभ मिले।

यह भी पढें, जम्मू कश्मीर को दोबारा राज्य दर्जा मिलने की सम्भावना, जून 24 को करेंगे पीएम क्षेत्रीय दलों से बातचीत

जनसंख्या नियंत्रण को लेकर तैयार हो रहे मसौदे के तहत इन बिंदुओं पर विचार किया जा रहा है कि कैसे लोगों को जागरूक किया जाए, ताकि भुखमरी और बेरोजगारी की समस्या से भी निपटा जा सके. जागरूक करने के साथ ही कुछ सख्त नियम भी लाने की तयारी है. मसलन राज्य द्वारा दी जा रही सुविधाओं व सब्सिडी में कटौती आदि पर मंथन शुरू कर दिया गया है.

अब जनसंख्या नियंत्रण को लेकर तैयार हो रहे मसौदे पर सियासत भी शुरू हो गई है. कांग्रेस ने कहा है कि इस मुद्दे पर एक सार्थक बहस होनी चाहिए. इसको लेकर जरूर ऐसे प्रभावी कदम कांग्रेस पार्टी भी चाहती है कि उठाए जाएं, लेकिन क्या यह राज्य का विषय है? यह तो एक राष्ट्रीय विषय है. कांग्रेस के प्रदेश प्रवक्ता अंशु अवस्थी ने कहा कि दरअसल भारतीय जनता पार्टी की उत्तर प्रदेश में आदित्यनाथ सरकार बुरी तरीके से विफल हो चुकी है, इसलिए ऐसे शिगूफे छोड़े जा रहे हैं।

Tina Chouhan

Author, Editor, Web content writer, Article writer and Ghost writer

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker