दिल्लीभारत

निर्दलीय विधायकों ने मांगा सोनिया, राहुल और प्रियंका से मिलने का समय

निर्दलीय विधायकों ने मांगा सोनिया, राहुल और प्रियंका से मिलने का समय

नई दिल्ली. मुख्यमंत्री अशोक गहलोत व पूर्व उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट के बीच विवाद उलझते जा रहा है। प्रदेश प्रभारी अजय माकन ने फो दिन पहले सचिन पायलट के पक्ष में बयान दिया था जिससे गहलोत समर्थकों में भड़क गए।
बसपा से कांग्रेस में शामिल हुए छह विधायकों ने सीएम खेमे ने रणनीति के तहत सरकार को समर्थन दे रहे 13 निर्दलियों के साथ ग्रुप जी-19 बना लिया है।
इन्होंने सोनिया गांधी, राहुल गांधी व महासचिव प्रियंका गांधी से मिलने का समय मांगा है।
इन्होंने पायलट खेमे को गद्दार बताया और आलाकमान से कहा कि यदि हम ना होते तो गहलोत सरकार गिर चुकी होती।
निर्दलीय विधायको ने जी-19 की 23 जून को होने वाली बैठक से पहले कांग्रेस आलाकमान से कहा कि सरकार ने पायलट खेमे को भागीदारी देने का प्रयास किया गया तो वे समर्थन वापसी पर विचार करेंगे।
उन्होंने रालोद के सुभाष गर्ग के साथ जाने का दावा किया है।

यह भी पढें, सचिन पायलट को मिला कॉंग्रेस की तरफ से यह खास ऑफर, मिलेंगे 3 मंत्रिपद

 

गहलोत नही करना चाहते समझौता:

कांग्रेस में शामिल हुए विधायकों (निर्दलीय व बसपा के) को आगे बढ़ाने के पीछे गहलोत की रणनीति मानी जा रही है।
गहलोत इन 19 विधायकों को आगे कर मंत्रिमंडल विस्तार व राजनीतिक नियुक्तियों के काम को टालना चाहते हैं।

रविवार को गहलोत ने आलाकमान व पायलट खेमे के दबाव के बीच अपने विश्वस्तों के साथ रणनीति बनाई।
उनके अनुसार वे दबाव में आकर कोई काम नही करना चाहते है और ना ही वे पायलट खेमे के साथ किसी तरह का समझौता करने के मूड में है।

वहीं दूसरी ओर पायलट भी अपना दबाव बनाना चाहते है। इस रणनीति को देखते हुए उन्होंने रविवार से जिलों के दौरे शुरू कर दिए।
जब वे जयपुर से अलवर तक पहुंचे तो उनका कई जगह स्वागत किया गया। यही पर वे सीआरपीएफ के शहीद जवान शेर सिंह जाटव और विधायक जौहरी लाल के घर पहुंचे तथा उनके परिजनों से मिले। दो दिन पहले ही मीणा की पत्नी का निधन हुआ है।

जी19 के विधायक गहलोत के साथ:

गहलोत सरकार के बचने का कारण, निर्दलीय विधायक संयम लोढ़ा और बसपा से कांग्रेस में शामिल हुए राजेंद्र गुढ़ा ने खुद को बताया। वह बोले कि हमारे कारण गहलोत सरकार बची है।
वरना पायलट सरकार को गिरा चुका होता। क्योंकि उन्होंने भाजपा से हाथ मिला लिया था। यही नही उन्होंने पायलट को अब भी भाजपा के सम्पर्क में ही बताया है।
उन्होंने कहा कि जो गहलोत चाहेंगे राजस्थान में वही होगा।
वहीं संदीप यादव ने कहा कि दिल्ली जाकर वे कांग्रेस आलाकमान से मिलकर बताएंगे कि पायलट खेम गद्दार है।
अगर किसी को सरकार में भागीदारी देनी है तो हमे दो उन्हें नही।

Tina Chouhan

Author, Editor, Web content writer, Article writer and Ghost writer

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker