भारत

बिहार की लड़कियां अब अपने भावी जीवन का खुद करने लेंगीं निर्णय, लौटा रही बारात

पटना, 5 मई ()। आम तौर पर बिहार की लड़कियों को संकोची माना जाता है, लेकिन अब लड़कियां अपने भावी जीवन को लेकर निर्णय भी लेने लगी हैं। ऐसे में लड़कियां अब लड़के के नापसंद होने पर दरवाजे पर आई बारात भी लौटाने लगी हैं।

ऐसा ही मामला मधुबनी जिले के कटैया मुसहरी गांव में देखने को मिला, जहां नेपाल के भराड़िया गांव से बारात आई थी। अन्य शादियों की तरह बारातियों का स्वागत भी हुआ।

इसके बाद अन्य रस्म निभाने के बाद जब वरमाला का समय आया तो लड़के को शराब के नशे में देख दुल्हन ने स्टेज पर ही शादी करने से इनकार कर दिया। इसके बाद हो हंगामा के साथ दोनो पक्षों में जमकर मारपीट हो गई। बाद में हालांकि शादी नहीं हुई।

बिहार के अरवल जिले में भी शराब पीना एक दूल्हे को काफी महंगा पड़ा। यहां भी दुल्हन बनी लड़की ने शादी से इंकार कर दिया।

बारात मेहदिया थाना क्षेत्र के बोध बिगहा गांव से दाउदनगर के लिए मंगलवार को गाजे बाजे के साथ निकली थी। औरंगाबाद के दाउदनगर स्थित एक मैरेज हॉल में शादी की रस्म रिवाज निभाई जा रही थी। इस दौरान वरमाला का आयोजन किया गया था।

लाल सुर्ख जोड़े में सजी दुल्हन दूल्हे के गले में वरमाला डाल दी। इसी बीच दूल्हे के लड़खड़ाते कदम ने उसकी पोल खोल दी। इसे देख भड़की दुल्हन ने पुन: माला को दूल्हे के गर्दन से निकाल लिया और शादी से इनकार कर दिया।

इधर, बक्सर से भी एक ऐसा मामला सामने आया है, जिसमें शादी के ऐन वक्त जब लड़की ने शादी से इंकार कर दिया। महरौरा गांव से बारात इटाढ़ी थाना क्षेत्र के डेहरिया गांव गई थी। सभी रस्म निभाये जा रहे थे, इसी बीच लड़की ने साफ तौर कह दिया कि उन्हें लड़का पसंद नहीं और वह शादी नहीं करेगी।

एमएनपी/एएनएम