भारत

बीएचयू में यूपीएससी की तैयारी के लिए अंबेडकर उत्कृष्टता केंद्र

डॉ. अंबेडकर उत्कृष्टता केन्द्र की विशेष बाते इस प्रकार हैं कि यहां प्रत्येक केन्द्र में कोचिंग के लिए 100 सीटें होंगी। कुल सीटों के 33 प्रतिशत पर अनुसूचित जाति की योग्य महिला अभ्यर्थियों को वरीयता दी जाएगी। केन्द्र में सुचारू पठन-पाठन के लिए सभी आवश्यक व्यवस्था जैसे अलग से कक्षा, पुस्तकालय, हाई-स्पीड वाई-फाई आदि प्रस्तावित है। केन्द्र में कोचिंग के लिए एडमिशन, विश्वविद्यालय द्वारा आयोजित प्रवेश परीक्षा में प्राप्तांकों की मेरिट के आधार पर होगा। वनस्पति विज्ञान, विज्ञान संस्थान, के प्रो. आर. एन. खरवार को इस कार्यक्रम के आयोजन के लिए नोडल अधिकारी नियुक्त किया गया है।

अनुसूचित जाति के विद्यार्थियों को प्रशासनिक सेवा परीक्षाओं के लिए निशुल्क कोचिंग उपलब्ध कराने के लिए प्रस्तावित डॉ. अंबेडकर उत्कृष्टता केन्द्र का माननीय सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्री, भारत सरकार, डॉ. विरेन्द्र कुमार द्वारा आगामी 22 अप्रैल को काशी हिन्दू विश्वविद्यालय से राष्ट्रव्यापी शुभारंभ किया जाएगा।

सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्रालय, भारत सरकार, की योजना के अंतर्गत इस केन्द्र के समारोह में राज्यपाल, उत्तर प्रदेश, आनंदीबेन पटेल भी उपस्थित रहेंगी। डॉ. अंबेडकर उत्कृष्टता केन्द्र 31 केन्द्रीय विश्वविद्यालयों में स्थापित किये जा रहें हैं, जिनमें से काशी हिन्दू विश्वविद्यालय भी एक है। उद्घाटन कार्यक्रम कृषि विज्ञान संस्थान, काशी हिन्दू विश्वविद्यालय, के शताब्दी कृषि प्रेक्षागृह में आयोजित किया जाएगा, जिसमें मंत्री, केन्द्रीय सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्रालय, भारत सरकार एवं उत्तर प्रदेश सरकार के वरिष्ठ अधिकारी तथा डॉ. अंबेडकर फाउंडेशन, नई दिल्ली, के अधिकारी भी उपस्थित रहेंगे।

इस दौरान उन सभी विश्वविद्यालयों के कुलपति भी मौजूद रहेंगे जिनमें डॉ. अंबेडकर उत्कृष्टता केन्द्र स्थापित किये जा रहे हैं। कार्यक्रम में केन्द्र की स्थापना तथा इन विश्वविद्यालयों में डॉ. अंबेडकर चेयर स्थापित करने के संबंध में डॉ. अंबेडकर फाउंडेशन तथा प्रतिभागी विश्वविद्यालयों के बीच सहमति पत्रों पर हस्ताक्षर किये जाएंगे।

–आईएएनए

जीसीबी/एसकेपी