दिल्लीभारत

मानसून के 11 जून तक आने की उम्मीद, इस बार अच्छी बारिश के है आसार

मानसून: 9 जून से 12 जून के बीच कोंकण व मुंबई क्षेत्र में भारी बारिश का अनुमान"।

मानसून के 11 जून तक आने की उम्मीद, इस बार अच्छी बारिश के है आसार

नई दिल्ली.
3 जून से केरल में दक्षिण-पश्चिम मानसून की 2 दिनों की देरी की घोषणा होने के बाद मौसम विभाग ने बताया है,

कि बारिश व तेज हवा के साथ मानसून के 11 से 13 जून तक बिहार में पहुंचने की संभावना है।

मध्य भारत व पूर्वी भारत मे 10 जून तक मानसून के पहुँचने की संभावना है।

वायु के कम दबाव के क्षेत्र के प्रभाव में उत्तर बंगाल की खाड़ी व आस पड़ोस के इलाके है।

रिपोर्ट में बताया गया कि कम दबाव क्षेत्र 11 जून
तक बन सकता है।

और इस वजह से दक्षिण-पश्चिम मानसून के ओडिशा, पश्चिम बंगाल और झारखंड के अधिकांश हिस्सों

और बिहार के कुछ हिस्सों में आगे बढ़ने की सम्भावना है।

मौसम विभाग द्वारा बारिश के पश्चिमी तट पर वृद्धि होने की बात कही है।

पूर्वी राज्यों में अगले 4-5 दिन तक व्यापक बारिश होने के आसार है।

चूंकि दक्षिण पश्चिम मानसून का अच्छा रुख है और पूरे देश मे अच्छी बारिश की सम्भावना है,

इस वजह से खरीफ फसल के अच्छी खेती की भी सम्भावना है।

यह भी पढ़ें, यामाहा FZ-X स्पोर्ट्स बाइक हो रही है भारत मे लॉन्च

आने वाले सोमवार से अरुणाचल प्रदेश, असम, मेघालय, उप-हिमालयी पश्चिम बंगाल,

सिक्किम, नगालैंड, मणिपुर, मिजोरम और त्रिपुरा में भारी बारिश की संभावना है।

उत्तर महाराष्ट्र तट से उत्तरी केरल तट तक औसत समुद्र स्तर पर अपतटीय ट्रफ के प्रभाव के तहत IMD ने कहा है,

कि अगले 5 दिनों के दौरान दक्षिण प्रायद्वीप में इंडिया के कुछ हिस्सों में गर्जन व

बिजली की कड़कड़ाहट के साथ (मानसून) बारिश की संभावना है।

8 से 10 जून के बीच उत्तर व पश्चिम भारत के मैदान वाले हिस्सो में धूल भरी आंधी के चलने की सम्भावना है।

इन हवाओं की रफ्तार 30-40 किमी प्रति घण्टे की रफ्तार जताई गयी है।

तटीय क्षेत्रों जैसे महाराष्ट्र में भारी बरसात की आशंका:

इसी हफ्ते मुंबई व राज्य के अन्य तटीय क्षेत्रों में भारी बारिश के आसार दिख रहे है।

मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने किसी भी विपदा के आने के पहले ही प्रबन्ध करने का आदेश दिया है ताकि किसी भी अनहोनी से निपट पाए।

उन्होंने कहा कि कोविड 19 के मरीजो को इस वजह से किसी तरह की कोई समस्या नही होनी चाहिए।

इसके अलावा उन्होंने निचले इलाकों में रहने वालों, क्षतिग्रस्त मकानों व भूस्खलन

जैसी जगहों से लोगो को सुरक्षित स्थान पर पहुंचाया।

ठाकरे ने जिला आपदा प्रबंधन के प्राधिकरणों के साथ बैठक करने के लिए कहा।

मुख्यमंत्री ने कहा कि “9 जून से 12 जून के बीच कोंकण व मुंबई क्षेत्र में भारी बारिश का अनुमान है,

किसी अनहोनी का सामना करने के लिए खुद को तैयार रखे”।

Tina Chouhan

Author, Editor, Web content writer, Article writer and Ghost writer

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker