भारत

महायोगी गोरखनाथ विश्वविद्यालय के कुलाधिपति बने मुख्यमंत्री योगी आद‍ित्‍यनाथ

महायोगी गोरखनाथ विश्वविद्यालय को यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ एक आदर्श विश्वविद्यालय के रूप में स्थापित करना चाहते हैं। इस विश्वविद्यालय में इसी सत्र से अध्यापन कार्य भी शुरू होने वाला है।

महायोगी गोरखनाथ विश्वविद्यालय के कुलाधिपति बने मुख्यमंत्री योगी आद‍ित्‍यनाथ

गोरखपुर. आरोग्यधाम सोनबरसा में स्थापित महायोगी गोरखनाथ विश्वविद्यालय के संचालन के लिए जिम्मेदारी तय कर दी गई है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को विश्वविद्यालय का कुलाधिपति बनाया गया है। इस निजी विश्वविद्यालय के कुलपति हैं मेजर जनरल डॉ. अतुल वाजपेयी तथा प्रति कुलाधिपति प्रो. यूपी सिंह को बनाया गया है। विश्वविद्यालय के कार्य परिषद की पहली बैठक भी 24 जून को होगी।

डा. प्रदीप कुमार राव बने पहले कुलसचिव:

कार्यभार ग्रहण करने के बाद डा. राव ने बताया कि परिनियमावली तय करने के लिए विश्वविद्यालय की पहली कार्य परिषद बुलाई गई है। 25 जून को बैठक का आयोजन विश्वविद्यालय के प्रशासनिक भवन सभागार में होगा।

यह भी पढें, दो से अधिक बच्चे वाले पेरेंट्स की मुश्किलें बढ़ी, यूपी में सरकार की तरफ से आ रहा यह कानून

महायोगी गोरखनाथ विश्वविद्यालय में किन पाठ्यक्रमों का संचालन होगा:

बीएससी नॄसग, पोस्ट बेसिक बीएससी नॄसग, बीएएमएस, बीएचएमएस, बीयूएमएस, बीडीएस, एमबीबीएस, बीफार्मा (आयुर्वेद व एलोपैथ), डीफार्मा (आयुर्वेद व एलोपैथ), बीएससी एलटी, बीए/बीएससी यौगिक साइंस, बीएससी एजी, बीए आनर्स, बीएससी आनर्स (मैथ व बायो), बीएससी कंप्यूटर, बीकाम, बीएड, बीएससी-बीएड, बीए-बीएड, बीपीएड, पैरा मेडिकल का सट‍िर्फि‍केट, बीसीए, बीबीए, डिप्लोमा और डिग्री कोर्स, शास्त्री आनर्स आदि।

दरअसल, महायोगी गोरखनाथ विश्वविद्यालय को यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ एक आदर्श विश्वविद्यालय के रूप में स्थापित करना चाहते हैं। इस विश्वविद्यालय में इसी सत्र से अध्यापन कार्य भी शुरू होने वाला है। विश्वविद्यालय कार्यसमिति का प्रस्तावित प्रारूप भी तैयार कर लिया गया है।

Tina Chouhan

Author, Editor, Web content writer, Article writer and Ghost writer

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker