भारत

सेना ने सर्वोच्च बलिदान देने वाले जवान को श्रद्धांजलि दी

श्रीनगर, 17 अप्रैल ()। सेना ने रविवार को दक्षिण कश्मीर के अनंतनाग जिले के गांव वटनार के पास 16 अप्रैल को सर्वोच्च बलिदान देने वाले लांस नायक निशान सिंह को श्रद्धांजलि दी।

श्रीनगर के बीबी कैंट में एक भव्य समारोह में, चिनार कोर कमांडर लेफ्टिनेंट जनरल डीपी पांडे और सभी रैंकों ने वीर सैनिक को श्रद्धांजलि दी।

सेना ने कहा कि जेकेपी से गांव वटनार के सामान्य इलाके में आतंकवादियों की संभावित मौजूदगी के बारे में प्राप्त इनपुट के आधार पर, भारतीय सेना और जेकेपी ने 16 अप्रैल को दोपहर लगभग 3.15 बजे एक घेरा और तलाशी अभियान शुरू किया था।

सेना ने कहा, जब प्रारंभिक घेराबंदी की जा रही थी, उस दौरान आतंकवादियों ने जवानों पर गोलियां चला दी। अपनी सुरक्षा की परवाह किए बिना, लांस नायक निशान सिंह, (जो प्रारंभिक घेरा पार्टी का हिस्सा थे) ने आतंकवादियों को करारा जवाब देते हुए बहादुरी से गोलियां चलाईं और इस दौरान उन्हें गोली लग गई। उन्हें तुरंत 92 बेस अस्पताल ले जाया गया, जहां उन्हें चिकित्सा अधिकारियों ने मृत घोषित कर दिया।

बहादुर लांस नायक निशान सिंह, 29 साल के थे। उन्होंने भारतीय सेना की सच्ची परंपराओं में सर्वोच्च बलिदान दिया। वह 2013 में सेना में शामिल हुए थे। वह हरियाणा के गांव-भौदीन, जिला-सिरसा के रहने वाले थे और उनके परिवार में उनकी पत्नी हैं।

लांस नायक निशान सिंह के पार्थिव शरीर को अंतिम संस्कार के लिए उनके पैतृक स्थान ले जाया जाएगा, जहां उनका पूरे सैन्य सम्मान के साथ अंतिम संस्कार किया जाएगा।

सेना ने कहा, दुख की इस घड़ी में सेना शोक संतप्त परिवार के साथ खड़ी है और उनकी गरिमा और भलाई के लिए प्रतिबद्ध है।

एचके/एसकेपी